शेयर कारोबारी को धमकी, एक करोड़ की रंगदारी, तीन आरोपी गिरफ्तार

राजस्थान में शेयर कारोबारी को एक करोड़ की रंगदारी की धमकी देने के आरोप में तीन आरोपी गिरफ्तार

श्रीगंगानगर: राजस्थान के श्रीगंगानगर में पुलिस ने शेयर कारोबारी को एक करोड़ की रंगदारी की धमकी देने तथा उसके दामाद की गाड़ी पर फायरिंग करने के मामले में पंजाब के कथित छात्र संगठन-स्टूडेंट ऑर्गनाइजेशन ऑफ पंजाब यूनिवर्सिटी (सोपू) के बीकानेर जिला अध्यक्ष सहित तीन युवकों को गिरफ्तार किया है।

पुलिस अधीक्षक का बयान

पुलिस अधीक्षक राजन दुष्यंत ने बताया कि गिरफ्तार युवकों का संबंध सोपू का गठन करने वाले और फिलहाल भरतपुर की उच्च सुरक्षा जेल में बंद कुख्यात अंतर्राज्यीय गैंगस्टर लॉरेंस विश्नोई से है।

एक करोड़ की रंगदारी

दुष्यंत ने बताया कि व्यापारी लीलाधर मित्तल और एलडी मित्तल को एक करोड़ की रंगदारी की धमकी देने तथा उसके दामाद शुभम गुप्ता की गाड़ी पर फायरिंग की घटना में मोहन लाल उर्फ मोनू जालप (उम्र 24) निवासी दुलमेरा थाना लूणकरणसर, भंवरलाल मेघवाल (उम्र 22) निवासी नोइया थाना कोलायत और सौरभ पटवा ओसवाल जैन (उम्र 26) निवासी भीनासर थाना गंगाशहर, बीकानेर को गिरफ्तार किया गया है।

आखिर कौन है लॉरेंस बिश्नोई ?

गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई की उम्र लगभग 25 साल का है। बिश्नोई का पंजाब, हरियाणा, राजस्थान, चंडीगढ़ में करीब बीस मामले चल रहे हैं। खास बात ये है कि सभी मामले पिछले 9 सालों में दर्ज हुए हैं। पुलिस के मुताबिक अगर उन मामलों को साथ जोड़ दिया जाए तो वह बरी हो चुका है पुलिस के अनुसार लॉरेंस बिश्नोई ने अबोहर के कॉन्वेंट स्कूल से 10वीं पास की थी। चंडीगढ़ के डीएवी स्कूल में बारहवीं पास करने के बाद उसने चंडीगढ़ में ही पंजाब यूनिवर्सिटी में एडमिशन लिया।

अपराध की दुनिया में पहला कदम

वर्ष 2008 में उसने सोपू की ओर से यूनिवर्सिटी प्रेजिडेंट का चुनाव लड़ा। उसका मुकाबला उदय सह व डग से था। चुनाव में लॉरेंस हार गया। इससे दोनों गुटों में तनाव बढ़ गया। एक दिन चंडीगढ़ के सेक्टर-11 में दोनों पक्ष एक-दूसरे के आमने-सामने हो गए। दोनों की ओर से गोलीबारी हुई। उस दौरान लॉरेंस पर पहला केस दर्ज हुआ। यहीं से लॉरेंस ने अपराध की दुनिया में कदम रखा। पंजाब के फाजिल्कां में तीन, अबोहर में दो, जालंधर में एक, मोहाली में तीन केस दर्ज हैं। जबकि चंडीगढ़ में चार, डबवाली में एक, राजस्थान के सीकर में तीन केस दर्ज होने के साथ-साथ जोधपुर में भी केस दर्ज हैं।

यह भी पढ़े:बिहार: शपथ ग्रहण में नहीं जाएंगे तेजस्वी यादव, ट्वीट कर बहिष्कार का किया फैसला

यह भी पढ़े:पीएम मोदी, शाह ने दी सभी देशवासियों को भाईदूज की शुभकामनाएं

Related Articles

Back to top button