बिग बैश लीग के नियमों में हुए तीन बड़े बदलाव, अब और बढ़ जाएगा रोमांच

ऑस्ट्रेलिया की बिग बैश लीग के 10वें सीजन का आगाज 10 दिसंबर से हो रहा है। बिग बैश लीग का यह सीजन पिछले सीजनों के मुताबिक कुछ अलग होगा।

नई दिल्ली: ऑस्ट्रेलिया की बिग बैश लीग के 10वें सीजन का आगाज 10 दिसंबर से हो रहा है। बिग बैश लीग का यह सीजन पिछले सीजनों के मुताबिक कुछ अलग होगा। इसको रोमांचक बनाने के लिए कई नियमों में बदलाव किए गए हैं। जो अभी तक किसी भी टूर्नामेंट में नहीं बनाए गए हैं।

बिग बैश लीग के नियमों में बदलाव

ऑस्ट्रेलिया ने अपनी बिग बैश टी20 क्रिकेट लीग के 10वें सत्र के लिए तीन नियम बदल हैं। जिसमें एक्स फेक्टर स्थानापन्न खिलाड़ी भी शामिल है। टीमों को मैच में 10वें ओवर के बाद एक एक्स फेक्टर खिलाड़ी का इस्तेमाल करने की अनुमति दी गई है। जो एक बल्लेबाज या क्षेत्ररक्षण टीम में एक गेंदबाज की जगह लेगा। लेकिन इसके लिए शर्त होगी कि वह एक ओवर से अधिक गेंदबाजी नहीं की हो।

BBL के इंस्टाग्राम अकाउंट से
BBL के इंस्टाग्राम अकाउंट से

इसके अलावा शुरुआती पावर प्ले के ओवरों में भी कटौती की गई है। इनिंग की शुरुआत में पावर प्ले 6 ओवर का होता है। लेकिन बिग बैश सीजन 10 में इसे घटाकर 4 ओवर का किया गया है। वहीं कम किए गए पावर प्ले के 2 ओवर को बैटिंग टीम 11वें ओवर के बाद कभी भी इस्तेमाल कर सकती है।

BBL के इंस्टाग्राम अकाउंट से
BBL के इंस्टाग्राम अकाउंट से

वहीं तीसरा नियम यह है कि अब से दोनों टीमों के लिए 4 पॉइंट होंगे।  इसमें 3 पॉइंट जीत दर्ज करने के मिलेंगे। जबकि 1 पॉइंट बैश बुस्ट होगा। जो कि टारगेट का पीछा करने वाली टीम को तब मिलेंगे जब वो विरोधी टीम के बनाए स्कोर से ऊपर का स्कोर बना लेगी। और अगर वो विरोधी टीम के बनाए स्कोर से पीछे रहती है तो वो पॉइंट फील्डिंग साइड को दे दिए जाएंगे।

BBL के इंस्टाग्राम अकाउंट से
BBL के इंस्टाग्राम अकाउंट से

ट्वीटर पर दी जानकारी

ऑस्ट्रेलिया द्वारा आयोजित बिग बैश लीग के नियमों में हुए बदलाव की जानकारी ट्वीटर पर ट्वीट कर दी गई। बता दें कि बिग बैश लीग का 10वें सीजन का आयोजन 10 दिसंबर से किया जाएगा। जो 6 फरवरी तक चलेगा। 68 दिन तक चलने वाले इस टूर्नामेंट में जो बदलाव किए गए इसका क्या असर पड़ता यह तो लीग खत्म होने के बाद ही पता चलेगा।

यह भी पढ़ें: मर्सीडीज के लुईस हैमिल्टन ने फिर रचा इतिहास, माइकल शूमाकर के विश्व रिकॉर्ड की बराबरी की

Related Articles

Back to top button