किसानों के समर्थन में फतेहाबाद और हिसार के तीन जिला पार्षदों ने दिया इस्‍तीफा

टिब्बी इनेलो के किसान सेल के जिलाध्यक्ष है। वहीं सहनाल मार्क्सवादी कम्यूनिस्ट पार्टी (माकपा) नेता हैं। वहीं हिसार में भी जिला पार्षद जस्‍सी पेटवाड़ ने इस्‍तीफा दे दिया है।

हिसार: केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलनरत किसानों के समर्थन में हरियाणा के हिसार और फतेहाबाद जिलों के तीन जिला पार्षदों ने आज अपने पदों इस्तीफा दे दिया।

किसानों के आंदोलन के समर्थन में फतेहाबाद जिला परिषद के वार्ड 11 से पार्षद रामचंद्र सहनाल और वार्ड 12 से पार्षद रामदास टिब्बी ने अपने पद से त्यागपत्र देते हुए पत्र फतेहाबाद के उपायुक्त डा. नरहरि सिंह और जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारी जयदीप को भेज दिया है।

टिब्बी इनेलो के किसान सेल के जिलाध्यक्ष है। वहीं सहनाल मार्क्सवादी कम्यूनिस्ट पार्टी (माकपा) नेता हैं। वहीं हिसार में भी जिला पार्षद जस्‍सी पेटवाड़ ने इस्‍तीफा दे दिया है। फतेहाबाद के दोनों पार्षद अब बहादुरगढ़ के टिकरी बॉर्डर पर धरना दे रहे है। हालांकि धरने पर उनके साथ पार्षद विजेंद्र सिवाच भी बैठे है लेकिन उन्होंने अभी तक अपने पद से त्यागपत्र नहीं दिया हैं।

पार्षद रामचंद्र और रामदास ने कहा कि केंद्र सरकार की हठधर्मिता के कारण पूरे देश के किसान गत चार माह से आंदोलन कर रही हैं। 26 नवम्बर से टिकरी बॉर्डर बहादुरगढ़ पर लगातार इस आंदोलन में बैठे है। उन्होंने कृषि विरोधी कानून तुरंत रद्द करने की मांग की। उनका दावा है कि जल्द ही अन्य पार्षद किसानों के समर्थन में अपने पद से त्यागपत्र देंगे। इससे पहले गांव अयाल्की के वार्ड 13 से पंच संदीप ने भी अपने पद से त्यागपत्र दिया था। उसके बाद अब दो पार्षदों ने त्यागपत्र दिया है।

यह भी पढ़े: भारत बंद में चाहिए किसानों एवं मंडी आढ़तियों का सक्रिय सहयोग: रामपाल जाट

Related Articles

Back to top button