तीन तलाक और ओबीसी बिल पास कराने की रणनीति तैयार, मानसून सत्र में लगेगी मुहर

नई दिल्ली। संसद का मानसून सत्र अगले सप्ताह बुधवार से शुरू हो जाएगा। इस सत्र को ध्यान में रखते हुए भाजपा मुख्य पहलुओं पर चर्चा कर रही है, जिन्हें इस सत्र में कानूनी जामा पहनाने का काम किया जाएगा। इसमें मुख्य तौर पर भाजपा तीन तलाक और ओबीसी आयोग को संवैधानिक दर्जा देने वाले बिल को पारित करने पर जोर देगी। वहीं इसी सत्र में राज्यसभा के उपसभापति पद के लिए होने वाले चुनाव पर भी चर्चा की गई।

मुंबई: भारी बारिश से जनजीवन अस्त-व्यस्त, स्कूल-कॉलेज बंद, 90 ट्रेने रद्द,…

संसद का मानसून सत्र

इसके साथ ही सत्र को सुचारू रूप से चलाने के लिए सरकार ने 17 जुलाई को सर्वदलीय बैठक बुलाई है। वहीं लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने सांसदों को पत्र लिख कर सहयोग मांगा है।

खबरों के मुताबिक़ शाह किडनी ट्रांसप्लांट के बाद स्वास्थ्य लाभ ले रहे जेटली से रेल मंत्री पीयूष गोयल की उपस्थिति में उनके निवास पर मिले।

शोपियां में आतंकियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ जारी, दो आतंकी…

करीब डेढ़ घंटे चली बैठक में सत्र के दौरान विपक्षी हमले से निपटने के साथ खास तौर पर उपसभापति पद के चुनाव पर चर्चा हुई।

पार्टी सूत्रों का कहना है कि विपक्ष को पटखनी देने केलिए भाजपा इस पद का प्रस्ताव अकाली दल या टीडीपी को भी दे सकती है।

गौरतलब है कि राज्यसभा में सबसे बड़ी पार्टी होने और राजग का संख्या बल ज्यादा होने के बावजूद पार्टी बहुमत से बहुत दूर है।

सत्र में भाजपा और सरकार की योजना हर हाल में एक साथ तीन तलाक पर रोक लगाने और राज्यसभा में लटके ओबीसी आयोग को संवैधानिक दर्जा देने वाले बिल को कानूनी जामा पहनाने की है।

इसके अलावा इस सत्र में टीडीपी ने फिर से सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने की घोषणा की है। विपक्ष कश्मीर मुद्दे पर सरकार को घेरने के मूड में है। ऐसे में विपक्षी हमले को कुंद करने की भी रणनीति बनी।

Related Articles