लखनऊ में तीनो सेनाएं दिखाएंगी अपना पराक्रम होगा सबसे बड़ा डिफेन्स एक्सपो

कई देशों के प्रमुखों सहित अन्य अतिथि भी होंगे शामिल

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में देश का अब तक का सबसे बड़ा डिफेंस एक्सपो 5 फरवरी से शुरू होने जा रहा है| जिसमे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में पांच फरवरी को रक्षा प्रदर्शनी (डिफेंस एक्सपो) का उद्घाटन करेंगे| इसके साथ ही साथ ही करीब 3 घंटे तक इस डिफेंस एक्सपो को भी देखेंगे|

डिफेंस एक्सपो में क्या है खास?

इस डिफेन्स एक्सपो दुनिया भर के देश शिरकत करेंगे| इस डिफेंस एक्सपो का आयोजन रक्षा मंत्रालय और उत्तर प्रदेश सरकार ने मिलकर किया है| यह इस लिहाज से भी बड़ा होने जा रहा है कि करीब 40 देशों के रक्षा मंत्री राजदूत और कई राष्ट्रों के प्रमुख भी इस डिफेंस एक्सपो में शामिल होंगे|

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह 5 दिनों तक लखनऊ में ही रहेंगे और इस डिफेंस एक्सपो में अपना पूरा वक्त देंगे| डिफेंस एक्सपो में थल सेना, वायु सेना और नेवी सेना अपने-अपने पराक्रम का प्रदर्शन करेंगी| जानकारी के अनुसार सुखोई और तेजस का रोमांच आकाश में दिखेगा तो वहीं डिफेंस एक्सपो में MIG-21 बायसन लोगों के आकर्षण का केंद्र होगा, क्योंकि यही MIG-21 बायसन है जिससे अभिनंदन ने पाकिस्तान में F-16 को मार गिराया था|

योगी सरकार इस डिफेंस एक्सपो के माध्यम से अपने डिफेंस कॉरिडोर को इन्वेस्टमेंट का सबसे बड़ा प्लेटफॉर्म बनाना चाहती है तो वहीं अब तक देश-विदेश की कंपनियों से 20 एमओयू (Memorandum of Understanding)पर हस्ताक्षर करने की तैयारी भी पूरी हो चुकी है| लखनऊ का वृंदावन इलाका और गोमती रिवर फ्रंट दोनों इस डिफेंस एक्सपो के लिए तैयार किए गए है|

7 दिसंबर को उत्तर प्रदेश के डिफेंस कॉरिडोर के लिए यह 20 एमओयू साइन होंगे जो रक्षा उत्पाद बनाने वाले कंपनियों के साथ उत्तर प्रदेश सरकार करार करेगी| इन कंपनियो को आगरा से लेकर झांसी तक के बीच में जमीन दी जाएगी और यहां डिफेंस के बड़े कारखाने लगाए जाऐंगे|

इन दिनों लखनऊ वासियों के लिए आसमान, जमीन और गोमती के पानी में एक साथ रोमांच देखने को मिल रहा है| 5 तारीख से शुरू हो रहे इस डिफेंस एक्सपो के रिहर्सल में 8000 फुट की ऊंचाई से पैराट्रूपर्स अपना शौर्य दिखा रहे हैं, तो एंटी टेररिस्ट ऑपरेशन के दौरान होने वाले लाइव ऑपरेशन भी दिखाए जा रहे हैं|

डिफेंस एक्सपो में एक तरफ डिफेंस एक्सपो में वायु सेना के करतब का रोमांच होगा, नेवी के शौर्य का प्रदर्शन होगा, थल सेना के टैंकों के युद्धाभ्यास को भी लोग देख सकेंगे| वहीं दूसरी तरफ बड़े-बड़े स्टॉल लगाए जा रहे हैं कहीं डीआरडीओ के स्टॉल में अर्जुन टैंक लगा है तो कहीं टी 2010 का प्रदर्शन है| साथ ही MIG-21 बायसन लोगों के सामने होगा| स्पेस में हमला करने वाले शक्ति मिसाइल, आकाश मिसाइल का प्रदर्शन होगा.

डिफेंस एक्सपो के औपचारिक उद्घाटन के पहले सोमवार को उद्योग मंत्री सतीश महाना ने कहा कि उत्तर प्रदेश सबसे बड़े डिफेंस एक्सपो के लिए तैयार है| सतीश महाना के मुताबिक उत्तर प्रदेश के डिफेंस कॉरिडोर के लिए कई कंपनियों ने अपनी रुचि जताई है जिस पर 7 तारीख को 20 एमओयू साइन होंगे|

 

Related Articles