ISIS के जरिए “See you in Palma” के अंधेरी जंगलों में भटकें कई सेकड़ों नौजवान

एक बड़े मॉड्यूल का हुआ खुलासा जिसमें कई नौजवान का कराया गया है ब्रेन वॉश, केरल और जम्मू-कश्मीर में बैठे दूसरे ISIS मोड्यूल के लोगों ने मदेश का किया ब्रेन वॉश

नई दिल्ली:  एक बड़े मॉड्यूल का हुआ है खुलासा जिसमें कई नौजवान का कराया गया है ब्रेन वॉश, जिसमें केरल और जम्मू-कश्मीर में बैठे दूसरे ISIS मोड्यूल के लोगों ने मदेश का ब्रेन वॉश किया और उसे इस कदर रेडिक्लाइज कर दिया गया कि वो कहीं भी जाकर आतंकी घटना को अंजाम देने के लिए बिल्कुल तैयार था।  भारत में आतंकी संगठन ISIS ने पैर नहीं पसारे हैं लेकिन उसकी सक्रिय होने की ये मुहिम लंबे समय से जारी है।  हाल ही में राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने कश्मीर, बेंगलुरु और मंगलोर की 5 जगहों पर रेड की थी, गिरफ्तार किए गए तमाम लोगों के ISIS से कनेक्शन सामने आए थे और वो  पूरी तरह रेडिक्लाइज हो चुके थे।

क्या है “See you in Palma” जाने

जो लोग गिरफ्तार किए गए है उसी लोगों में शामिल बेंगलोर का रहेने वाला मदेश शंकर उर्फ अली मुवैया दो साल पहले ISIS के सोशल मीडिया ग्रुप के साथ जुड़ा था। उसके बाद केरल और जम्मू-कश्मीर में बैठे दूसरे ISIS मोड्यूल के लोगों ने मदेश का ब्रेन वॉश किया और उसे इस कदर रेडिक्लाइज कर दिया कि वो कहीं भी वो जाकर आतंकी घटना को अंजाम देने के लिए बिल्कुल तैयार था।  “MI” से जुड़े एक सीनियर अफसर ने बताया कि पहली बार “MI” की टीम ने मदेश शंकर को उस वक्त एक टेलीग्राम चैनल पर स्पॉट किया था जिसका नाम था “See you in Palma”  दरअसल ये ISIS का एक इंटरनेशनल टेलीग्राम चैनल था जिसमें देश और विदेश के कई आतंकी जुड़े हुए थे। “Palma” एक कोड वर्ड है जिसके जरिए सभी को अफ्रीका में हुए एक घटना के बारे में याद दिलाया गया था।

मदेस और “See you in Palma” का कनेक्शन

मार्च 2021 में ISIS के आतंकियों ने 4 लोगों का गला काटकर हत्या कर दिया था।  ये पूरा घटनाक्रम अफ्रीका में हुआ था।  इसी घटना के बाद सोशल मीडिया पर प्रोपेगेंडा चलाने के लिए “See you in Palma” नाम का पेज शुरू कर दिया गया और इसके जरिए कई युवकों को ISIS संग जोड़ा भी गया और उन्हें रेडिक्लाइज भी किया गया,  एजेंसियों कि  माने तो मदेश शंकर जिस ISIS के मॉड्यूल से जुड़ा हुआ है उसमें देश की मेट्रो सिटी के कई दर्जनों नौजवान को एजेंसियों ने गिरफ्तार कर लिया है, लेकिन सैकड़ों नौजवान अभी भी फरार चल रहे हैं, वो सभी अलग-अलग फर्जी नाम और कोड नेम के जरिए सोशल मीडिया एप पर एक्टिव हैं और ISIS का जिहादी प्रोपेगेंडा फैला रहे है।

क्यों अपना धर्म छोड़ने पर राजी हुआ मदेश

MI ने बताया कि मदेश शंकर ने अपना धर्म छोड़ इस्लाम फॉलो करना शुरू कर दिया था। उसकी उसी हरकत की वजह से परिवार ने भी मदेश से दूरी बना ली थी। कहा गया कि धीरे-धीरे मदेश शंकर कई ISIS के सोशल मीडिया चैनल से जुड़ा और केरल, कश्मीर, कर्नाटक में एक्टिव ISIS के मोड्यूल के लोगों से जुड़ता चला गया फिर इन्हीं सब लोगों ने साथ मिलकर खुद का गिरोह बना लिया और ISIS की जिहादी वाली विचारधारा का प्रसार करने लगा।

यह भी पढ़े:यह स्वतंत्रता दिवस उन लोगों को याद करता है जिन्होंने हमारे देश को बचाने के लिए शहीद हो गए।

(Puridunia हिन्दीअंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Related Articles