खुल गई चीन-नेपाल दोस्‍ती की नई राह

second-sino-nepal-trade-route-opens-0212201415524977

लहासा। चीन और नेपाल के बीच जिलुंग पारगमन मार्ग खुलने से व्यापार में तेजी आई है। यह जानकारी सीमा शुल्क विभाग के अधिकारियों ने दी।

जिलुंग मार्ग से चीन द्वारा नेपाल को 10 नबंवर से 10 दिसंबर के बीच कुल 5,965 टन सामान का निर्यात किया गया, जिसकी कीमत 26 करोड़ युआन है। तिब्बत को उसके सबसे बड़े व्यापारिक भागीदार नेपाल के साथ जोड़ने वाले दो महत्वपूर्ण रास्तों में से जिलुंग एक है।

जिलुंग पारगमन मार्ग के उपनिदेशक पू झेंगजांग ने बताया कि जिलुंग को नेपाली में केरूंग कहा जाता है। यह रास्ता नेपाल में आए 8.1 तीव्रता के भूकंप के कारण क्षतिग्रस्त हो गया था, जिसके कारण इसे बंद कर दिया गया था। अब इस रास्ते से रोजाना लगभग 100 ट्रक गुजर रहे है। जिलुंग से नेपाल की राजधानी काठमांडू की दूरी 130 किलोमीटर है।

नेपाल में आए भूकंप के कारण दक्षिणपूर्व चीन के तिब्बत स्वायत्तशासी क्षेत्र के विदेश व्यापार में 35.1 फीसदी की कमी देखने को मिली थी। इससे साल 2015 की पहली छमाही में 3.34 अरब युआन (लगभग 54.50 करोड़ डॉलर) के कारोबार का नुकसान हुआ।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button