टिकैत की जिद और पुलिस की बैरिकेडिंग आमने-सामने

भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत की एक भावुक वीडियो के वायरल होने के बाद गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों की संख्या पहले से चार गुना ज्यादा बढ़ गई।

नई दिल्ली: कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली की सीमाओं पर 65 दिन से किसानों की धरना जारी है। 26 जनवरी के दिन किसानों द्वारा निकाली गई ट्रैक्टर रैली से हुई हिंसा के वजह से आंदोलन बिखरता हुआ नजर आ रहा था।लेकिन भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत की एक भावुक वीडियो के वायरल होने के बाद गाजीपुर बॉर्डर पर किसानों की संख्या पहले से चार गुना ज्यादा बढ़ गई।

यह भी पढ़े: सिंधु बॉडर पर टेंशन हाई, टिकैत (Tikait) के आंसू से आंदोलन में आंच तेज

खाली हाथ वापस नही लौटेंगे

राकेश टिकैत ने कहा है कि हम खाली हाथ वापस नही लौटेंगे, अगर वापस गए तो जीत लेकर ही जाएंगे। एक तरफ राकेश टिकैत की जिद और दुसरी तरफ पुलिस की बैरिकेडिंग, दोनों को केन्द्र सरकार कब तक आमने-सामने रखेगी।

किसानों को राष्ट्रीय राजधानी में जाने से रोकने के लिए दिल्ली पुलिस बॉर्डरों पर सख्ती दिखाते हुए नजर आ रही है। गाजीपुर बॉर्डर पर लोगों ने फिर से अपना तंबू टिका लिया है और आंदोलन को बरकार रखा है।

पुलिस ने गाजीपुर बॉर्डर पर बैरिकेडिंग की संख्या बढ़ा दी है, इसके साथ ही नुकीले तार भी लगाए हैं। NH 24 को पूरी तरह से बंद कर दिया गया है।

यह भी पढ़े: Bombay High Court: ‘पत्नी से पैसे मांगना उत्पीड़न (Harassment) नहीं’ आरोपी बरी

 

Related Articles

Back to top button