4 महीने ही कुर्सी पर रह पाए तीरथ सिंह रावत, उत्तराखण्ड में आज नए CM का होगा ऐलान

देहरादून: उत्तराखंड में सियासी गहमा-गहमी तेज़ है। बीती रात CM तीरथ सिंह रावत ने राज्यपाल को अपने पद से इस्तीफे का पत्र सौंप दिया। आज नए CM के लिए उत्तराखण्ड के MLAs की बैठक है। शुक्रवार देर रात प्रदेश की गवर्नर बेबी रानी मौर्या से तीरथ सिंह रावत ने मुलाकात की और उन्हें इस्तीफा सौंपा। बता दें तीरथ सिंह रावत इसी साल मार्च में उत्तराखंड में CM की कुर्सी पर काबिज़ हुए थे। उन्होंने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देने की वजह संवैधानिक संकट बताया है।

वहीँ गवर्नर हाउस पहुंचकर इस्तीफा सौंपने के बाद तीरथ सिंह रावत ने प्रदेश में उन्हें मौका देने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार जताया। वहीं भाजपा ने आज दोपहर को उत्तराखंड के विधायकों की एक बैठक बुलाई है। इस बैठक में उत्तराखंड के नए मुख्यमंत्री के नाम का विधायकों की सहमति से ऐलान होगा।

इस घटनाक्रम से पहले तीरथ सिंह रावत ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा को पत्र लिखकर इस्तीफ़ा देने की पेशकश की थी। भाजपा हाईकमान को लिखे पत्र में उन्होंने कहा था कि आर्टिकल 164-A के हिसाब से उन्हें मुख्यमंत्री बनने के बाद 6 महीने में विधानसभा का सदस्य बनना था, लेकिन आर्टिकल 151 कहता है कि अगर विधानसभा चुनाव में एक वर्ष से कम का समय बचता है तो वहां पर उप-चुनाव नहीं कराए जा सकते हैं।

उत्तराखण्ड पहुंचे केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर

आज शनिवार को दोपहर 3 बजे उत्तराखंड में विधायक दल की बैठक के लिए पर्यवेक्षक के तौर पर केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर देहरादून पहुंचे हैं। वहीं पर भाजपा विधायक दल की बैठक होगी। पार्टी के आलाकमान ने सभी विधायकों को देहरादून में मौजूद रहने के लिए कह दिया है।

उत्तराखंड के CM तीरथ सिंह रावत के इस्तीफा देने के बाद प्रदेश के नए मुखिया के नाम पर चर्चा शुरू हो गई है। इसमें सतपाल महाराज, धन सिंह रावत और बिशन सिंह चुफाल का नाम शामिल है। यही नहीं पार्टी नेताओं के एक समूह ने उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और डोईवाला से विधायक त्रिवेंद्र सिंह रावत के नाम का भी सुझाव दिया है। इसको लेकर उन्होंने तर्क दिया है कि जब आगामी विधानसभा चुनावो में एक साल से भी कम समय बचा है, तब ऐसे में किसी नए उम्मीदवार पर दांव लगाने के बजाय त्रिवेंद्र सिंह रावत को इस पद की जिम्मेदारी सौंपना उचित होगा, क्योंकि उनके पास प्रदेश के मामलों को संभालने का अनुभव है।

वहीँ इन सब के बीच उत्तराखंड भाजपा के अध्यक्ष मदन कौशिक ने कहा कि दोपहर 3 बजे विधायक दल की बैठक में राज्य का नया मुख्यमंत्री चुना जाएगा। इसके बाद हम राज्यपाल के पास जाएंगे। हो सकता है कि CM विधायकों में से ही किसी एक को चुना जाए।

बता दें तीरथ सिंह रावत को 10 मार्च को उत्तराखंड के  मुख्यमंत्री के तौर पर कमान दी गई थी। लगभग 4 महीने बाद संवैधानिक संकट के चलते उन्हें अपनी कुर्सी छोड़नी पड़ी।

ये भी पढ़ें : अनिरुद्ध शर्मा की मिली R. Balki और Gauri Shinde के होप प्रोडक्शंस में बड़ी जिम्मेदारी

(Puridunia हिन्दी, अंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब  पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

 

Related Articles