टायर कटा तो निकले 2.40 करोड़ रुपए, आयकर विभाग हाई अलर्ट पर

0

आयकर विभाग के छापे में कर्नाटक और गोवा की अलग-अलग जगहों से 4 करोड़ रुपए सीज किए गए हैं. कर्नाटक के शिमोगा जिले में चुनाव के बीच भारी मात्रा में कैश बरामद हुआ है.हैरत की बात यह है कि बेंगलुरु से शिमोगा जा रही एक कार में रखे गए टायर से लगभग 2.40 करोड़ रुपए की राशि बरामद की गई है.

आयकर विभाग की ओर से की गई कार्रवाई का एक वीडियो भी सामने आया है. इस वीडियो में टायर खोलने पर भीतर से 2-2 हजार के नोट बरामद किए गए हैं. इस छापेमारी में एक व्यक्ति को गिरफ्तार भी किया गया है.

बता दें आयकर विभाग की इस छापेमारी में कार की स्पेयर टायर से 2.40 करोड़, कार की इंटसेप्शन से 40 लाख, बगलकोट में एक बैंक कर्मी से एक करोड़ रुपए, गोवा में करीब 30 लाख रुपए की जूलरी और बीजापुर से 10 लाख की नकदी बरामद की गई है.

सूत्रों के मुताबिक सीज की गई संपत्ति को बेंगलुरु से शिमोगा और भद्रावती ट्रांसफर किया जा रहा था. इंटेलिजेंस विभाग इस पर नजर बनाए हुए था. जब नकदी के साथ गिरफ्तार व्यक्ति बेंगलुरु से भद्रावती जा रहा था, तभी उसे रोक लिया गया. आरोपी नगदी को स्कॉर्पियो कार से ले जा रहा था. कार की स्टेपनी जब फाड़ी गई तो उसमें से 2-2 हजार के नोट निकले.

तमिलनाडु और कर्नाटक रडार पर

गौरतलब है कि तमिलनाडु और कर्नाटक से ही चुनाव के दौरान भारी मात्रा में कैश और चल संपत्ति बरामद की जा रही है. चुनाव आयोग भी कैश की बरामदगी पर संज्ञान ले चुका है. तमिलनाडु की वेल्लोर सीट पर तो 18 अप्रैल होने वाली वोटिंग भ्रष्टाचार के चलते रद्द कर दी गई. चुनाव आयोग की सिफारिश पर राष्ट्रपति रामनाथ कोबिंद ने तमिलनाडु की वेल्लोर लोकसभा सीट का चुनाव रद्द कर दिया था.

वेल्लोर सीट पर राज्य की अन्य सीटों के साथ ही 18 अप्रैल को चुनाव होना था. यहां डीएमके उम्मीदवार से जुड़े एक व्यक्ति के सीमेंट के गोदाम से करीब 12 करोड़ रुपये कैश की बरामदगी के बाद यह फैसला किया गया.

आयकर विभाग ने वेल्लोर जिले में 1 अप्रैल को द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (द्रमुक) के एक पदाधिकारी के सीमेंट गोदाम से बड़ी संख्या में नगदी जब्त की गई थी. आयकर विभाग के अधिकारियों को इस DMK पदाधिकारी के सीमेंट गोदाम से कार्टूनों और बोरों से नगदी मिली थी. कुल 12 करोड़ की नगदी बताई गई. देश भर में चुनावों के दौरान भारी मात्रा में नकदी बरामद की जा रही है. इन पैसों का कोई वैध हिसाब-किताब सामने नहीं आ रहा है.

कर्नाटक में छापेमारी का विरोध

बता दें कर्नाटक में छापों को लेकर आयकर विभाग बहुत सक्रिय है. हाल ही में कर्नाटक के मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी के करीबियों के आवासों पर छापेमारी की गई थी. कर्नाटक के लघु सिंचाई मंत्री सीएस पुट्टाराजू और उनके एक संबंधी के घर पर भी हाल ही में छापेमारी की गई थी. पुट्टाराजू इन छापेमारियों पर नाराजगी जता चुके हैं.

मुख्मंत्री कुमारस्वामी ने हाल ही में दावा किया था कि राज्य में छापेमारी करने के लिए देश के विभिन्न हिस्सों से 300 से ज्यादा आयकर अफसर और सीआरपीएफ कर्मियों को लाया गया था. हाल ही में आयकर विभाग ने विपक्षी दलों के नेताओं या करीबियों पर करीब 15 छापे डाले. कांग्रेस और जेडीएस के नेताओं ने इन छापों का विरोध करते हुए प्रदर्शन करने की धमकी भी दी थी.

चुनाव आयोग का निर्देश

इस संबंध में चुनाव आयोग ने राजस्व सचिव को लेटर लिखकर यह सख्त हिदायत दी कि उनके निरीक्षण में काम करने वाली प्रवर्तन एजेंसियों-इनकम टैक्स विभाग और प्रवर्तन निदेशालय को राजनीतिक दलों के खि‍लाफ कार्रवाई में पूरी तरह तटस्थ, निष्पक्ष और भेदभाव रहित होना चाहिए. देश भर में चुनावों के दौरान कालेधन के इस्तेमाल पर रोक के लिए आयकर विभाग सक्रिय है और छापेमारी कर रहा है.

loading...
शेयर करें