बेटी ढूंढने के लिए कानपुर पुलिस ने भीख मांगने वाली दिव्यांग महिला से भरवाया डीजल

कानपुर: योगी सरकार की पुलिस (Police) अपनी हरकतों से बाज नहीं आ रही है, आए किसी न किसी मामले को लेकर सुर्खियों में बनी रहती है। सोमवार को देश का आम बजट पेश हुआ है वहीं योगी सरकार की कानपुर पुलिस (Police) के खजाने में पैसे की कमी दिखाई दे रही है। इसका पता तब जब चला जब कानपुर पुलिस पर भीख मांगकर गुजारा करने वाली दिव्यांग बेवा महिला से घूस मांगने का आरोप लगा।

जानकारी के मुताबिक, फटे पुराने कपड़े पहने दिव्यांग बेवा महिला कानपुर एसएसपी कार्यालय पहुंचकर रो-रो कर गुहार लगाई। महिला की नाबालिग बेटी को एक महीने से पहले ठाकुर नाम का व्यक्ति उठा ले गया था, जिसकी चकेरी पुलिस ने एफआईआर तो लिखी, लेकिन जांच करने वाली पुलिस उससे टरकाती रही। महिला ने एसएसपी से बताया है कि चकेरी थाने की सनिगवां चौकी पुलिस के दरोगा ने बेटी खोजने के नाम से दो-ढाई हजार रूपये का डीजल भरवाने के लिए घुस मांगती है और मुझे मज़बूरी में देना पड़ता है। पुलिस अभी तक न उसकी बेटी ढूंढ, उल्टा महिला को चौकी से भगा भी दिया।

ये भी पढ़ें : farmers protest : दिल्ली पुलिस आयुक्त ने गाजीपुर सीमा पर सुरक्षा व्यवस्था का लिया जायजा

भीख मांगकर उनकी गाड़ी में डीजल भरवाया

महिला ने एसएसपी से बताया कि साहब झूठ नहीं बोलूंगी, पुलिस को पैसा तो नहीं दिया है केवल तीन से चार बार इधर-उधर से भीख मांगकर उनकी गाड़ी में डीजल भरवाया है। इसके आगे उसने बताया कि सर ठाकुर नाम का एक रिश्तेदार मेरी बेटी को उठा ले गया था। एक महीना हो रहा है और पुलिस आरोपी को अभी तक नहीं पकड़ सकी।

ये भी पढ़ें : ममता सरकार ने बजट 2021 को बताया फर्जी, कहा- इसकी थीम है ‘सेल इंडिया’

पीड़ित महिला ने बताया जब थाने में पता करने जाती हूं तो पुलिस उसे भगा देती है और उसकी शिकायत भी नहीं सुनती। अब तक पुलिस की गाड़ी में डीजल डलवाने के लिए पंद्रह हजार रुपये दिये हैं। इसके बाद भी पुलिस कहती है कि तुम्हारी बिटिया ही गलत होगी। हालांकि एसएसपी ने मानवता दिखाते हुए अपनी स्कॉट की गाड़ी से महिला को थाने भेजकर भेजा की आपकी बेटी को ढूंढा जाएगा। पुलिस ने बताया कि

चौकी इंचार्ज लाइन हाजिर

प्रकरण में थाना चकेरी पर अभियोग पंजीकृत है लड़की की बरामदगी हेतु CO CANTT के निर्देशन में 04 टीमे गठित की गई है, पीड़ित महिला को पुलिस स्कार्ट कार से थाना भिजवाया गया तथा एसएसपी द्वारा चौकी इंचार्ज सनिगवां उ0नि0 राजपाल सिंह को लाइन हाजिर कर विभागीय जांच के आदेश दिये गये है।

Related Articles

Back to top button