फिल्म पाने के लिए इस एक्ट्रेस ने की सारी हदें पार, फिर भी नहीं मिला काम..

मुंबई। यूं तो फिल्म इंडस्ट्री में कास्टिंग काउच एक गंभीर मुद्दा है। चाहे वह बॉलीवुड हो या साउथ इंडस्ट्री इस मुद्दे के खिलाफ अब हर कोई बोलने लगा है। कहा जाता है कास्टिंग काउच का शिकार सिर्फ एक्ट्रेस ही नहीं बल्कि एक्टर भी होते हैं। इसी सिलसिले में इसका विरोध करने के लिए तेलुगू एक्ट्रेस श्री रेड्डी ने हाल ही में इसका विरोध किया है।

पहला मौका नहीं है जब श्री रेड्डी ने तेलुगू फिल्म इंडस्ट्री का मुद्दा उठाया है। वह इससे पहले भी सोशल मीडिया पर इंडस्ट्री के कई डायरेक्टर्स और एक्टर्स पर कास्टिंग काउच का आरोप लगा चुकी हैं। विरोध करते हुए उन्होंने बीच सड़क पर धरना प्रदर्शन करना भी शुरु कर दिया। जिसके बाद से उन्हें पुलिस हिरासत में ले लिया गया। इसी दौरान श्री रेड्डी ने एक बयान दिया जिसके सुनकर सब हैरान रह गए हैं।

उन्होंने कहा कि उनकी Movie Artistes Association (MAA) की मेंबरशिप इसलिए केंसल कर दी गई है क्योंकि उन्होंने कास्टिंग काउच जैसे मुद्दे का विरोध किया है। श्री रेड्डी ने आरोप लगाते हुए बताया कि उन्होंने इंडस्ट्री के कई फिल्ममेकर्स को अपनी न्यूड तस्वीरें और वीडियोज भेजी थीं। उन्होंने ये सब फिल्ममेकर्स की डिमांड पर किया था।

श्री कहती हैं बावजूद इसके उन लोगों ने अपना वादा पूरा नहीं किया और उन्हें किसी भी फिल्म में काम नहीं दिया। एक्ट्रेस कहती हैं कि इंडस्ट्री में 75 प्रतिशत रोल्स के लिए एक्ट्रेस को कुछ न कुछ अदा करना पड़ता है। श्री ने “Mee Too” मूवमेंट के तहत बिना किसी का नाम लिए बताया था कि फिल्म में रोल एक्सचेंज करने के लिए उनसे एक महिला ने सेक्शुअल फेवर मांगा था।

उनके इस विरोध को देखते हुए फिल्म मेकर रामगोपाल वर्मा का कहना है कि हैदराबाद में न्यूड होकर विरोध प्रदर्शन करने के बाद अभिनेत्री बनने की इच्छा रखने वाली श्री रेड्डी ‘नेशनल सेलेब्रिटी’ बन गई हैं। रड्डी ने फिल्म उद्योग में उनके साथ यौन उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए ‘कास्टिंग काउच’ के खिलाफ प्रदर्शन किया। साथ ही उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा है कि, “श्री रेड्डी नेशनल सेलेब्रिटी बन गईं हैं। मुंबई में जो लोग पवन कल्याण (दक्षिण भारत के मशहूर अभिनेता) के बारे में नहीं जानते, श्री रेड्डी के बारे में बात कर रहे हैं।”

Related Articles