जीवन के महत्व को समझना है तो तथागत गौतम बुद्ध को समझ लो: लक्ष्य

बाराबंकी: लक्ष्य की युथ टीम द्वारा एक सायंकालीन विशेष कैडर का आयोजन बाराबंकी के गांव मोहलिया ब्लॉक निंदूरा में आयोजित तीन दिवसीय बुद्ध कथा में किया गया। जिसमें में बहुजन समाज के लोगों ने विशेषतौर से युवाओं ने बढ़चढ़कर हिस्सा लिया।

अगर वास्तव में मानव को मानवता के महत्व को जानना है अर्थात् जीवन के महत्व को समझना है तो तथागत गौतम बुद्ध को समझ लो। तथागत गौतम बुद्ध की शिक्षाएं समानता पर आधारित है वे मानवता का महत्व है, जीवन का सार है, अंधविश्वास, पाखंड, आडम्बर से कोसो दूर है, कट्टरता शब्द दूर दूर तक नहीं है और जहाँ कोई भी ऊंचनीच व जातीय उत्पीड़न नहीं है अगर है तो केवल और केवल मानवता, भाईचारा, समानता तथा विज्ञान है जो मनुष्य को मानशिक रूप में मजबूत करता है, चारो ओर खुसाली और खुसाली है। यह बात लक्ष्य युथ कमांडरों ने अपनी चर्चा के दौरान कही।

उन्होंने समाज में व्याप्त जातीय उत्पीड़न व भेदभाव पर गहरी चिंता जताते हुए कहा कि हमें यानि कि बहुजन समाज के लोगों को तथागत गौतम बुद्ध के मार्ग को अपनाना होगा और शोषण व उत्पीड़न के खिलाफ आवाज बुलंद करनी होगी। उन्होंने कहा कि अच्छे बुरे को समझना ही बुद्ध है और जो समाज अच्छे बुरे को समझता है वो मानशिकता से मजबूत होता है यानि कि हर तरीके से खुशहाल होता है, हुक्मरान होता है। उन्होंने बाबा साहब डॉ भीमराव आंबेडकर द्वारा बुद्ध धम्म के लिए किये गए कार्यों पर भी विस्तार से प्रकाश डाला।

इस अवसर पर लक्ष्य युथ कमांडर कुलदीप बौद्ध ने तथागत गौतम बुद्ध की शिक्षाओं को गीत के माध्यम से विस्तार से समझाया। उपस्थिति लोगों ने लक्ष्य टीम का जोरदार तरीके से स्वागत किया और उनके समाज के प्रति समर्पण की भूरि भूरि प्रशंसा की।

इस कैडर कैंप में लक्ष्य युथ कमांडर छोटू गौतम, विनय प्रेम, धर्मराज, कुलदीप बौद्ध, दीपक सिद्धार्थ, मोहित गौतम, सुधीर सिंह, व शैलेन्द्र आर्या ने हिस्सा लिया।

Related Articles