आज है गणेश चतुर्थी, ऐसे करें गणपति की स्थापना, ये हैं चौघड़िया और लग्नानुसार गणेश स्थापना मुहूर्त

आज है गणेश चतुर्थी।  गणपति की स्थापना गणेश चतुर्थी के दिन मध्याह्न में की जाती है। मान्यता है कि गजानन का जन्म मध्याह्न काल में हुआ था। साथ ही इस दिन चंद्रमा देखना वर्जित है। आप चाहे तो बाजार से खरीदकर या अपने हाथ से बनी गणपति की मूर्ति स्थापित कर सकते हैं स्थापना करने से पहले स्नान करने के बाद नए या साफ धुले हुए बिना कटे-फटे वस्त्र पहनने चाहिए|

अपने माथे पर तिलक लगाएं और पूर्व दिशा की ओर मुख कर आसन पर बैठ कर पूजा करें। आसन कटा-फटा नहीं होना चाहिए. साथ ही पत्थर के आसन का इस्तेमाल न करें। इसके बाद गणेश जी की प्रतिमा को किसी लकड़ी के पटरे या गेहूं, मूंग, ज्वार के ऊपर लाल वस्त्र बिछाकर स्थापित करें। गणपति की प्रतिमा के दाएं-बाएं रिद्धि-सिद्धि के प्रतीक स्वरूप एक-एक सुपारी रखें।

सह लग्न- प्रात: 5:03 से 07:12 तक।
कन्या लग्न- सुबह 7:12 से 9:16 तक।
धनु लग्न- दोपहर 1:47 से 3:53 तक।
कुंभ लग्न- शाम 5:40 से 7:09 तक।
मेष लग्न- रात्रि 8:43 से 10:24 तक।

विशेष- अभिजीत योग दोपहर 12:01 से 12:55 तक।

Related Articles