आज है Holi Bhai Dooj, जानिए इसका महत्व और इस से जुड़ी रोचक कथा

दीपावली की तरह चैत्र मास की द्वितीया तिथि को भी देश के कुछ हिस्सों में भाई दूज (Holi Bhai Dooj) का त्योहार मनाया जाता है।

नई दिल्ली: दीपावली की तरह चैत्र मास की द्वितीया तिथि को भी देश के कुछ हिस्सों में भाई दूज (Holi Bhai Dooj) का त्योहार मनाया जाता है। ये पर्व होली के ठीक अगले दिन मनाने की परंपरा है। इस दिन बहने भाई को तिलक करती हैं और उनके सुखद एवं निरोग जीवन की कामना करती हैं।

होली भाई दूज
होली भाई दूज

शास्त्रों की मानें तो होली के अगले दिन जब बहनें भाई को तिलक लगाती हैं तो भाई को सभी तरह के संकट से मुक्ति मिल जाती है और उसके जीवन में सुख समृद्धि आती है। भाई दूज के पर्व पर तिलक का बहुत महत्व है। ये त्यौहार चैत्र मास के कृष्ण पक्ष की द्विताया तिथी को होली भाई दूज मनाया जाता है। इसी के साथ भाई अपने बहनों को उपहार देते हैं और उनकी रक्षा का वचन देते है।

Holi Bhai Dooj का सही मूहरत

आपको बता दें, होली भाई दूज का पूर्व बहनों और भाई के बीच प्रेम का पर्व है। इस वर्ष भाई दूज का पर्व 30 मार्च 2021 यानी आज मनाया जा रहा है। इस वर्ष पर्व का मूहरत द्विताया तिथी से 29 मार्च शाम 8:54 से अगले दिन 30 मार्च की शाम 5:27 बजे तक है।

यह भी पढ़े:

पूराने कथा के अनुसार, एक गांव में एक परिवार रहता था। जिसमे भाई को बहन से मिलने की इच्छा पर काफी सारे परेशानी का सामना करना पड़ा। फिर दुखी हो कर बहन को अपनी बात बताई तो बहन ने तिलक लगा कर उसकी निरोग जीवन और भाई के जीवन में सुख समृद्धि की प्रथणा करती है। भगवान उसकी प्रथणा सुन लेते है।  इस तरह से बहन अपने भाई को बचा लेती है।

Related Articles