Trending

आज का गूगल डूडल है बेहद खास, जाने इसके पीछे का इतिहास

भारत| आज देश की पहली मुस्लिम महिला शिक्षक फातिमा शेख की जयंती है और गूगल ने एक शानदार डूडल बनाकर फातिमा शेख को सम्मानित किया है। बता दें फातिमा शेख ने महान समाज सुधारक ज्योतिबा फुले और सावित्रीबाई फुले के साथ मिलकर 1848 में स्वदेशी पुस्तकालय की स्थापना की थी और लड़कियों के लिए शिक्षा के द्वार खोल दिए थे। यह पुस्तकालय लड़कियों के लिए शिक्षा के पहले माध्यम में से एक माना जाता था।

जिस समय इन पुस्तकालय की स्थापना हुई उस समय महिलाओं को शिक्षा से दूर रखा जाता था। वहीं मुस्लिम और दलित महिलाओं की स्थिति अत्यधिक दयनीय थी। फातिमा शेख ने सावित्री बाई फुले के साथ मिलकर इस पुस्तकालय की नींव दलित और मुस्लिम महिलाओं में शिक्षा की अलख जगाने के उद्देश्य से रखी थी। हालांकि फातिमा शेख को इस लड़ाई को मुकाम तक ले जाने के लिए काफी मेहनत करनी पडी थी।

उन्होंने दलित व मुस्लिम महिलाओं को शिक्षा से जोड़ने हेतु उनके घर जाकर उन्हें जागरूक करने का निर्णय लिया। उस समय यह काम बेहद कठिन था उन्हें लोगों का तिरस्कार सहना पड़ता था लोग उनकी अभेलना करते थे लेकिन वह अपने लक्ष्य से पीछे नहीं हटी और महिलाओं के हित के लिए संघर्ष करती रही।

Related Articles