आज का पंचांग: शुक्रवाार 13 जुलाई, जानें शुभ मुहूर्त

आज १८:५९ तक जन्मे शिशुओं का नामकरण पुनर्वसु द्वितीय, तृतीय, चतुर्थ चरण अनुसार क्रमशः (को, ह, ही) के अनुसार रखना सही होगा। इसके बाद जन्मे शिशुओं का नाम पुष्य प्रथम चरण अनुसार क्रमशः (हु) नामाक्षर से रखना शास्त्र सम्मत है। आज पश्चिम-उत्तर की ओर राई अथवा दही लस्सी का सेवन कर यात्रा करना शुभ रहेगा।

पञ्चाङ्ग 13 जुलाई 2018

सूर्योदय: ०५:३५
सूर्यास्त: ०७:१७
चन्द्रोदय:
चन्द्रास्त: १९:३८
अयन दक्षिणायन (उत्तरगोले)
ऋतु: वर्षा
शक सम्वत: १९४० (विलम्बी)
विक्रम सम्वत: २०७५ (विरोधकृत)
युगाब्द ५१२०
मास आषाढ़
पक्ष: कृष्ण
तिथि: अमावस्या (०८:१७ तक)
क्षय तिथि: प्रतिपदा (२८:३३ तक)
नक्षत्र: पुनर्वसु (१८:५९ तक)
योग: व्याघात (०८:३५ तक)
क्षय योग: हर्षण
प्रथम करण: नाग
द्वितीय करण: किंस्तुघ्न
क्षय करण: बव

गोचर ग्रह

सूर्य मिथुन
चंद्र कर्क (१३:४२ से)
मंगल मकर
बुध कर्क
गुरु तुला
शुक्र सिंह
शनि धनु
राहु कर्क
केतु मकर

शुभ मुहूर्त विचार

अभिजित मुहूर्त: ११:५४ – १२:५०
अमृत काल: १६:५२ – १८:१७
होमाहुति: सूर्य
अग्निवास: आकाश (पृथ्वी २८:३२ से)
दिशा शूल: पश्चिम में
नक्षत्र शूल: कोई नहीं
चन्द्र वास: पश्चिम (उत्तर १३:४३ से)
दुर्मुहूर्त: ०८:१४ – ०९:०९
राहु काल वास: दक्षिण-पूर्व में
राहुकाल: १०:३९ – १२:२२
यमगण्ड: १५:४९ – १७:३५

चौघड़िया विचार

॥ दिन का चौघड़िया ॥
१ – चर २ – लाभ
३ – अमृत ४ – काल
५ – शुभ ६ – रोग
७ – उद्वेग ८ – चर
॥रात्रि का चौघड़िया॥
१ – रोग २ – काल
३ – लाभ ४ – उद्वेग
५ – शुभ ६ – अमृत
७ – चर ८ – रोग
नोट- दिन और रात्रि के चौघड़िया का आरंभ क्रमशः सूर्योदय और सूर्यास्त से होता है। प्रत्येक चौघड़िए की अवधि डेढ़ घंटा होती है।

तिथि विशेष

सर्वार्थसिद्धि योग सूर्योदय से १८:५८, देवकार्ये आषाढ़ी अमावस्या, गुप्त नवरात्रि विधान आरम्भ, प्रतिपदा तिथि क्षय आदि।

उदय-लग्न मुहूर्त

०५:२८ – ०५:४४ मिथुन
०५:४४ – ०८:०५ कर्क
०८:०५ – १०:२४ सिंह
१०:२४ – १२:४२ कन्या
१२:४२ – १५:०३ तुला
१५:०३ – १७:२२ वृश्चिक
१७:२२ – १९:२६ धनु
१९:२६ – २१:०७ मकर
२१:०७ – २२:३३ कुम्भ
२२:३३ – २३:५७ मीन
२३:५७ – २५:३०+ मेष
२५:३०+ – २७:२५+ वृषभ
२७:२५+ – २९:२९+ मिथुन

Related Articles