Tokyo Olympics 2020: भारत की उम्मीदों को लगा बड़ा झटका, Boxing में हारीं मैरीकॉम

टोक्यो ओलंपिक में बॉक्सर एमसी मैरीकॉम का महिला फ्लाईवेट 51 किग्रा भार वर्ग के राउंड-16 में कोलंबिया की इंग्रीट लोरेना वालेंसिया से हार गईं

टोक्यो: टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics) 2020 के 7वें दिन 6 बार की विश्व चैंपियन भारत की बॉक्सर एमसी मैरीकॉम (Mary Kom) का महिला फ्लाईवेट 51 किग्रा भार वर्ग के राउंड-16 में कोलंबिया की इंग्रीट लोरेना वालेंसिया से मुकाबला हुआ। जिसमें उन्हें हार का सामना करना पड़ा।

मुकाबले में 3-2 से हराया

भारत की ओर से पदक की प्रबल दावेदार मानी जा रहीं मैरीकोम को वालेंसिया (Valencia) ने करीबी मुकाबले में 3-2 से हराया। मैरीकोम के इस तरह प्री क्वार्टर फाइनल मुकाबले में हारने से भारत की पदक की उम्मीदों को बड़ा झटका लगा है। वालेंसिया अपने प्रदर्शन से जहां तीन जजों को प्रभावित करने में कामयाब रहीं वहीं मैरीकोम से दो जज ही प्रभावित हुए।

 

बॉक्सिंग के प्रति लगाव

मैरी कॉम 8 बार (World Boxing Competition) की विजेता रह चुकी हैं। 2012 के लंदन ओलंपिक में उन्होंने कांस्य पदक जीता। 2010 मैरी कॉम के मन में बॉक्सिंग के प्रति लगाव 1999 में उस समय उत्पन्न हुआ जब उन्होंने खुमान लंपक स्पो‌र्ट्स कॉम्प्लेक्स में कुछ लड़कियों को बॉक्सिंग रिंग में लड़कों के साथ बॉक्सिंग के दांव-पेंच आजमाते देखा। मैरी कॉम बताती है कि, मैं वह नजारा देख कर स्तब्ध थी। मुझे लगा कि जब वे लड़कियां बॉक्सिंग कर सकती है तो मैं क्यों नहीं?

साथी मणिपुरी बॉक्सर डिंग्को सिंह की सफलता ने भी उन्हें बॉक्सिंग की ओर आकर्षित किया।मैरीकॉम की शादी ओन्लर कॉम से हुई है। उनके जुङवां बच्चे हैं। मैरी कॉम ने साल 2001 में पहली बार National Women’s Boxing Championship जीती। अब तक वह 10 राष्ट्रीय खिताब जीत चुकी है। बॉक्सिंग में देश का नाम रोशन करने के लिए भारत सरकार ने साल 2003 में उन्हें अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

यह भी पढ़ेAngad Bedi के साथ रोमांस करती दिखीं Mouni Roy, शानदार रोमांस ने जीता लोगों का दिल

(Puridunia हिन्दीअंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Related Articles