Tokyo Olympics: बॉक्सर Lovlina ने रचा इतिहास, ऐसा रहा रोमांचक मुकाबला

टोक्यो ओलंपिक में भारत का दूसरा मेडल पक्का, भारत की महिला बॉक्सर लवलीना बोर्गोहेन ने महिला 69 किलो वर्ग के क्वार्टर फाइनल में चीनी ताइपे की निएन चिन चेन को मात दी है

टोक्यो: भारत का टोक्यो ओलंपिक (Tokyo Olympics) में दूसरा मेडल मिलना पक्का हो गया है। भारत की महिला बॉक्सर (Boxer) लवलीना बोगोर्हेन (Lovlina Borgohain) टोक्यो ओलंपिक के 69 किग्रा भार वर्ग, जिसे वेल्टरवेट कटेगरी भी कहा जाता है। उसके सेमीफाइनल में पहुंच गई हैं।

इस तरह असम (Assam) की इस बाक्सर ने देश के लिए कम से कम कांस्य पदक पक्का कर लिया है। कुकुगिकान एरेना में लवलीना का सामना ताइवान की नेन चिन चेन से हुआ, जहां वह 4-1 से विजयी रहीं।

ओलंपिक बॉक्सिंग में पदक सुनिश्चित

मुकाबले से पहले चेन को जीतने का प्रबल दावेदार माना जा रहा था लेकिन लवलीना (Lovlina) ने शुरू से ही आक्रामक रुख अपनाया और पहले राउंड में 30-27 से विजय पायी और दुसरे राउंड को एकमत से जीत लिया। अंत में भारत की बॉक्सर को स्प्लिट निर्णय से विजयी घोषित किया गया और उन्होंने सेमिफाइनल में अपनी जगह बनायी। विश्व चैंपियनशिप और एशियाई चैंपियनशिप में पदक जीत चुकी लवलीना भारत के लिए ओलंपिक बॉक्सिंग में पदक सुनिश्चित करने वाली दूसरी महिला और तीसरी बॉक्सर हैं।

रेड कार्नर में खेल रहीं लवलीना पहला राउंड थोड़ा मुश्किल रहा क्योंकि इस राउंड में तीन जजों ने उन्हें बेहतर आंका जबकि दो जजों ने चेन को बेहतर आंका। दूसरे राउंड में असम को लोहाघाट की इस बॉक्सर ने अपने खेल का स्तर उठाया और सभी जजों को प्रभावित करने में सफल रहीं। तीसरे राउंड में चेन को ताजिकिस्तान के जज मंसूर मुहिदिनोव ने बेहतर आंका। शेष जजों का फैसला लवलीना के हक में रहा। मंसूर ने पहले राउंड में भी चेन को बेहतर अंक दिए थे।

यह भी पढ़ेगाजीपुर बॉर्डर पहुंच सकती हैं पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी, सुरक्षा-व्यवस्था कड़ी

(Puridunia हिन्दीअंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Related Articles