Toolkit Case: दिशा रवि की जमानत अर्जी पर फैसला सुरक्षित, पुलिस ने जारी की 20 लोगों की तस्वीर

टूलकिट मामले में दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने दिशा रवि की जमानत अर्जी पर आदेश मंगलवार तक सुरक्षित रखा

नई दिल्ली: किसान आंदोलन को लेकर 26 जनवरी के दिन लाल किले पर हुई हिंसा में टूलकिल (Toolkit) मामला लोगों के बीच हॉट टॉपिक रहा। दिल्ली पुलिस ने जांच के दौरान टूलकिट के ऑनलाइन मौजूद स्क्रीन शॉट्स की पड़ताल की और जांच में प्राप्त जानकारी मिलते ही इस टूलकिट गूगल डॉक्यूमेंट (Toolkit Google Document) की संपादक निकिता जैकब के खिलाफ सर्च वारंट जारी किया गया था। इस मामले में दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने दिशा रवि की जमानत अर्जी पर आदेश मंगलवार तक सुरक्षित रखा।

दिल्ली पुलिस ने 20 और लोगों की तस्वीरें जारी की हैं, जो 26 जनवरी को लाल किले में हुई हिंसा में कथित रूप से शामिल थे।

जमानत याचिका पर सुनवाई

टूलकिट मामले में दिशा रवि की जमानत याचिका पर सुनवाई करते हुए, पटियाला हाउस कोर्ट ने एएसजी एसवी राजू से पूछा, “26 जनवरी की हिंसा के साथ टूलकिट के संबंध में आपने क्या सबूत जुटाए हैं”। दिल्ली पुलिस का कहना है कि जांच जारी है और ‘हमें चीजों की खोज करनी है।

दिशा रवि के लिए अपील करते हुए, अधिवक्ता सिद्धार्थ अग्रवाल ने कहा, “मेरे इतिहास का खालिस्तान से कोई लेना-देना नहीं है। मेरा संबंध सिख फॉर जस्टिस या पीजेएफ से नहीं है। इस मामले में, यह स्पष्ट है कि अन्यथा सोच में बहकावा आकर्षित होता है”।

क्या था टूलकिट मामला?

दरअसल 4 फरवरी के दिन सोशल मीडिया पर किसान आंदोलन के समर्थन में क्लाइमेट एक्टिविस्ट ग्रेटा थनबर्ग (Greta Thunberg) ने एक ट्वीट किया था और टूलकिट के नाम एक डॉक्यूमेंट शेयर किया था। इसी ट्वीट को देखकर सोशल मीडिया पर काफी विवाद हुआ। विवाद होने के बाद ग्रेटा थनबर्ग ने यह ट्वीट डिलीट (Delete) कर दिया और दूसरा ट्वीट कर दूसरा टूलकिट डॉक्यूमेंट (Second Toolkit Document) शेयर कर दिया।

यह भी पढ़ेNaomi Osaka का दबदबा बरकरार, बनीं ऑस्ट्रेलियन ओपन चैंपियन

टूलकिट (Toolkit) क्या है?

टूलकिट एक ऐसा दस्तावेज होता है जिसमें किसी मुद्दे की जानकारी देने के लिए और उस मुद्दे से जुड़ी कदम उठाने के लिए संक्षिप्त जानकारी होती है। टूलकिट के जरिए किसी भी आंदोलन में भाग लेने के लिए उससे जुड़े लोगो को दिशा-निर्देश दिए जाते हैं।

यह भी पढ़ेIPL 2021: फ्रेंचाइजियों के हिसाब से इस जगह हो सकता है IPL का आयोजन

Related Articles

Back to top button