Toyota ने चिप की कमी के कारण घटाया सितंबर का प्रोडक्शन टारगेट

पुणे : दुनिया की बड़ी कार मैन्युफैक्चरर्स में शामिल Toyota मोटर कॉर्प ने चिप की कमी के कारण सितंबर में प्रोडक्शन को चालीस प्रतिशत तक कम करने का फैसला किया है। इस कड़ी में आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इससे पहले कई ऑटोमोबाइल कंपनियां भी चिप की कमी के कारण प्रोडक्शन में कटौती कर चुकी हैं।

हालाँकि, Toyota का एनुअल टारगेट रहेगा बरक़रार

सेल्स के लिहाज से दुनिया की सबसे बड़ी ऑटोमोबाइल कंपनी टोयोटा ने बयम जारी कर कहा कि मार्च में समाप्त होने वाले वर्ष के लिए उसका 93 लाख व्हीकल्स का ग्लोबल प्रोडक्शन टारगेट बरकरार है। इसके साथ ही कंपनी ने इस साल 87 लाख कारें बेचने के टारगेट में भी कोई बदलाव नहीं किया है।

चिप की चल रही है ग्लोबल मंदी

इस कड़ी में टोयोटा के  एग्जिक्यूटिव काजुनारी कुमाकुरा ने मीडिया को दिए अपने बयान में कहा कि कंपनी इन आंकड़ों को ज़रूर हासिल कर लेगी । सितंबर  में प्रोडक्शन में कटौती कंपनी की जापान की चौदह फैक्टरियों और विदेश की फैक्टरियों पर लागू होगी। इस कड़ी में आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कंपनी की योजना लगभग तीन लाख साथ हज़ार व्हीकल्स का प्रोडक्शन कम करने की है। इनमें से लगभग एक लाख चालीस हज़ार व्हीकल्स की कटौती अकेले जापान में की जाएगी।

यह भी पढ़ें : माइक्रोसॉफ्ट के इन्वेस्टमेंट से OYO का वैल्यूएशन हुआ 9.6 अरब डॉलर

Related Articles