TRAI ने सस्ती इंटरनेट सेवा उपलब्द कराने के लिए निकाला यह रास्ता, PCO के बाद PDO

0

नई दिल्ली। भारत ग्रामीण इलाकों में ब्राडबैंड की पहुंच ​उपलब्ध कराने में अन्य देशों से काफी पीछे है। इसी को ध्यान में रखते हुए ट्राई ने वाई फाई की सुविधा हर स्तर तक पहुंचानें के लिए नई छोटी कंपनियों को बढ़ावा देने की जरूरत बताई है। इसके लिए कंपनी ने एक बहुत महत्वपूर्ण मॉडल रखा है। इसका मकसद इंटरनेट संपर्क की लागत में 90 प्रतिशत तक कमी लाना और देश में ब्राडबैंड के इस्तेमाल को प्रोत्साहित करना है।

ट्राई के चेयरमैन आरएस शर्मा ने कहा कि देश में ब्राडबैंड की पहुंच डिजिटल इंडिया का महत्वपूर्ण स्तंभ है। उपकरणों की कम लागत व नि:शुल्क स्पेक्ट्रम को देखते हुए वाई फाई सबसे सस्ता विकल्प है। ट्राई ने पुराने दिनों के पीसीओ की तर्ज पर पीडीओ पब्लिक डेटा ऑफिस प्रोवाइडर (PDO) का प्रस्ताव रखा है जो कि पैसा लेकर या नि: शुल्क वाई फाई हॉटस्पाट उपलब्ध करवाएंगे। ये पीडीओ कोई कंपनी या छोटे कारोबारी का भी हो सकता है।

ट्राई ने जो आंकड़े सरकार को सौंपे हैं उनमें कहा गया है कि इस समय प्रत्‍येक ग्राहक को औसतन 23 पैसे प्रति एमबी खर्च करना पड़ता है। आने वाले समय में यह 2 पैसे हो सकता है। सरकार की तरफ से बताए गए पीडीओ में जाकर यूजर फ्री में या फिर बहुत कम कीमत चुकाकर वाइफाई हॉटस्‍पॉट की मदद से इंटरनेट का प्रयोग कर सकेगा।

 

 

loading...
शेयर करें