कानपुर के पनकी ट्रासमिशन ग्रिड में लगी भयानक आग, आधे शहर की बत्ती गुल

0

कानपुर। उत्तर प्रदेश के औद्योगिक शहर कानपुर में कल रात पनकी पावर प्लांट प्रांगण में आग लग गई। यह आग 400 केवी पनकी ट्रांसमिशन ग्रिड स्टेशन के 240 एमवीए के पावर ट्रांसफार्मर में लगी, इससे लगभग 10 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है। हालांकि तड़के पर वैकल्पिक संसाधनों से शहर की बिजली व्यवस्था शुरू कर दी गई।   पनकी

आग के कारण 220 केवी ट्रांसमिशन लाइन को 33 केवी डिस्ट्रीब्यूशन लाइन पर डाइवर्ट कर सिस्टम को सुधारने की कोशिश की गई है। इसका ज्यादा समय तक उपयोग नहीं किया जा सकता है। अधिकारियों का कहना है ये टिकाऊ नहीं इसकी वजह से छोटे फाल्ट होते रहेगे और लोगों को सुचारू रूप से बिजली नहीं मिल पाएगी। इस व्यवस्था को ठीक करने के लिए नया ट्रांसफार्मर लगाना ही पड़ेगा।

उनका कहना है कि इस ट्रांसफार्मर को गिनी-चुनी कंपनियां ही बनाती हैं। इनमें भी भेल झांसी के साथ पंजाब और मध्य प्रदेश की निजी कंपनियां शामिल हैं। इतना बड़ा ट्रांसफार्मर तुरंत तैयार नहीं मिलता इससे भी दिक्कतें आ रही हैं। पारेषण विंग ट्रांसफार्मर खोजने में लगी है उनका कहना है कि शीघ्र ही इसे स्थापित कर और उर्जीकृत किया जाएगा।

इस आग की वजह से पनकी कल्याणपुर सचेंडी बर्रा विजयनगर, आइआइटी, मंधना समेत कई हिस्सों में जहरीली हवा फ़ैल गई है। सुबह तक इन क्षेत्रों में कुछ राहत मिली है। आग के बाद निकलने वाली ब्लैक कार्बन और मैटेलिक पार्टिकल्स वायुमंडल से छट चुके हैं।

इस पवार प्लांट में आग की वजह से देर रत करीब आधे शहर की बत्ती गुल हो गई।  आग लगने की सूचना पर पहुंची पर अग्निशमन की दमकल करीब दो घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद आग पर काबू पा सकी। तब काफी नुकसान हो चुका था। अधिकारी मामले की जाँच कर रहे हैं।

 

loading...
शेयर करें