कानपुर: ऐसा गांव जहां टेलीमेडिसिन से होगा इलाज

telemedicine

कानपुर। बड़े से बड़े रोग के निदान की खातिर विशेषज्ञ चिकित्सकों के परामर्श के लिए लोगों को हजारों किलोमीटर की यात्रा नहीं करनी पड़ेगी। अब टेलीमेडिसिन के जरिये घर बैठे विशेषज्ञों से सम्पर्क कर मुफ़्त इलाज लिया जा सकेगा। इसकी शुरुआत जनपद के पचोर गांव से हुई है। एक स्वयंसेवी संस्था और स्वास्थ्य विभाग के साथ मिलकर पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप मॉडल पर योजना शुरू की है। वर्ल्ड हेल्थ पार्टनर संस्था देश में फ्री इलाज देने वाले कई स्काई सेंटर चला रही है।

मिलेगी रोग से संबंधित सलाह
जनपद के चौबेपुर विकासखण्ड के पचोर गांव में यह हेल्थ सेंटर खुला है। हालाँकि अभी और भी सेंटर बनेंगे। जहां सलाह और दवा दोनों उपलब्ध होंगे। जनपद में ऐसे 17 सेंटर चल रहे हैं। लेकिन पचोर गांव का ऐसा पहला सेंटर है जिसे टेलीमेडिसिन से जोड़ा गया है। जहां अब गांव में ही रोग से सम्बंधित सलाह ली जा सकेगी।

सेंटर पर ही जेनरिक दवाखाना भी होगा
इस सेंटर पर मरीज तो देखे ही जायेंगे साथ ही दवाओं के लिए जेनरिक दवाखाना भी होगा। जिससे जो भी नुस्खे लिखे जाएँ वह दवा उपलब्ध कराई जा सके। जनपद में इस तरह के और भी सेंटर खोले जाने की योजना है। इन हेल्थ सेंटरों में इलाज निशुल्क होगा। गर्भवती मांओं को सलाह के साथ साथ दवाएं भी मुफ़्त मिलेंगी।

महिलाओं के उपचार को प्राथमिकता
संस्था की राष्ट्रीय निदेशक प्राची शुक्ला ने बताया कि संस्था का उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों में अच्छी से अच्छी स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराना है। इसमें महिलाओं के उपचार को प्राथमिकता होगी। आयरन फोलिक एसिड व कैल्शियम जैसी दवाएं स्वास्थ्य विभाग की ओर से दी जाएँगी।

सेंटर से ही होगा प्रचार प्रसार
स्थापित किये गए सेंटर से ही स्वास्थ्य विभाग के सभी कार्यक्रमों का प्रचार प्रसार भी होगा। साथ ही सेंटर से पीएचसी व सीएचसी के स्वास्थ्य कार्यकर्ता भी जुड़े होंगे। जिससे सभी योजनाओं का भी लाभ मिलेगा।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button