डेंगू व अन्य वायरल रोगों का इलाज सरकारी अस्पतालों में निशुल्क जारी, जांच सुविधा भी उपलब्ध

लखनऊ: अपर मुख्य सचिव ‘सूचना’ नवनीत सहगल ने बताया कि मुख्यमंत्री के 3टी ट्रेस, टेस्ट और ट्रीट अभियान के अभिनव प्रयास से प्रदेश में कोरोना संक्रमण नियंत्रित में है। उन्होंने बताया कि 3टी के कारण ही 30 अप्रैल, 2021 के एक्टिव मामले 3,10,783 से घटकर मात्र 193 हो गये है तथा 30 अप्रैल के प्रतिदिन कोविड केस 38 हजार से घटकर 09 हो गये है। उन्होंने बताया कि प्रदेश के कई जनपदों में कोई कोविड एक्टिव केस नहीं है।

सर्विलांस के माध्यम से सरकारी मशीनरी द्वारा उत्तर प्रदेश की 24 करोड़ की जनसंख्या में से अब तक लगभग 17.24 करोड़ से अधिक लोगों से उनका हालचाल जाना गया है। लक्षणयुक्त व्यक्तियों का टेस्ट कराकर संक्रमण होने पर लगभग 16 लाख से अधिक निःशुल्क मेडिकल किट भी बांटी गयी है। कोविड संक्रमण अभी पूरी तरह समाप्त नहीं हुआ है। इसलिए सभी लोग कोविड अनुरूप आचरण करे। टीकाकरण के बाद भी कोविड प्रोटोकॉल का पालन अवश्य करें।

सहगल ने बताया कि प्रदेश में सक्रिय मामले कम होने पर भी कोविड-19 के टेस्ट करने की संख्या घटाई नहीं जा रही हैं। कोविड संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए समय से पहचान व इलाज जरूरी है। कल एक दिन में 01 लाख 82 हजार से अधिक कोविड टेस्ट किये गये है, अब तक 7 करोड़ 61 लाख से अधिक कोविड टेस्ट किये गये है जो कि देश में सर्वाधिक है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में सर्विलांस, टेस्टिंग एवं टीकाकरण का कार्य वृहद स्तर पर किया जा रहा है।

कल प्रदेश में रिकार्ड 27 लाख से अधिक डोज दी गई है। सोमवार से लगभग 20 लाख अधिक कोविड टीकाकरण करने का प्रयास किया जायेगा। प्रदेश में 07 करोड़ 72 लाख से अधिक पहली तथा 01 करोड़ 61 लाख से अधिक दूसरी डोज सहित कल तक कुल 09 करोड़ 33 लाख डोज लगायी गयी है। उन्होंने बताया कि शनिवार को केवल कोविड वैक्सीन की दूसरी डोज दी जाती है।

प्रदेश में 50 प्रतिशत पात्र जनसंख्या को वैक्सीन की कम से कम एक डोज दे दी गयी है। नीति आयोग तथा डब्लूएचओ के द्वारा बताया गया है कि वैक्सीन की एक डोज लगभग 90 प्रतिशत कोविड से होने वाली मौतों से रक्षा करती है।

Related Articles