पहली बार देखने को मिलेगा तिरंगे रंग का रेल इंजन

जयपुर: देश के 71वें स्वतंत्रता दिवस को विशेष बनाने के लिए भारतीय रेलवे ने नई पहल की है। दरअसल, इस बार 15 अगस्त को पहली बार डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर (डीएफसी) पर तिरंगे रंग की ट्रेन चलाई जायेगी। इसके लिए ट्रेन के इंजन को तिरंगे रंग से बनाने का काम जोधपुर रेलवे डीजल शेड को सौंपा गया है। आपको बता दें कि, डीजल शेड ने ऐसे दो डीजल इंजन को तिरंगे रंग में रंग दिया है। रेल मंत्रालय के मुताबिक, ईस्टर्न और वेस्टर्न कॉरिडोर का काम 15 चरण में किया जा रहा है।

डीएफसी के कॉरपोरेट कम्युनिकेशन डीजीएम राजेश खरे ने बताया कि पहले चरण में राजस्थान के फुलेरा से हरियाणा के अटेली के बीच पहली ट्रेन चलेगी। वेस्टर्न रूट 1504 किलोमीटर का है, जोकि हरियाणा, राजस्थान, गुजरात, महाराष्ट्र व उत्तर-प्रदेश इन पांच राज्यों से होकर गुजरता है।

रेलवे ने 21 मार्च 2020 तक फ्रेट कॉरिडोर का पुरा करने का लक्ष्य है। अभी तक मालगाड़ी और यात्री ट्रेन एक ही ट्रैक पर चलती है। जिसकी वजह से वेस्टर्न और ईस्टर्न फ्रेट कॉरिडोर बनाए जा रहे हैं। जल्द यात्रियों की इसकी सुविधा मिलने लगेगी। इसके रुट के तैयार होने के बाद दोनों तरफ ट्रेन के अलग-अलग ट्रैक पर दौड़ेंगी।

Related Articles

Back to top button