आईटीबीपी के जवानों संग सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने मनाई दीपावली

त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने आईटीबीपी के जवानों संग मनाई दीपावली

देहरादून: उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने  उत्तरकाशी जिले में भारतीय-तिब्बत सीमा पुलिस (आईटीबीपी) के कोपांग शिविर (कैम्प) एवं हर्षिल में नौवीं बटालियन बिहार रेजिमेंट के सेना के जवानों के साथ दीपावली मनाई।

सीएम ने दी दीपावली की शुभकामनाएं

सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने जवानों का हौंसला बढ़ाया और उन्हें एवं उनके परिवारजनों को दीपावली की शुभकामनाएं दी। जवानों ने मुख्यमंत्री को अपने बीच पाकर प्रसन्नता व्यक्त की और कहा कि इससे कार्य करने का जज्बा और होंसला बढ़ता है।

चैन की नींद सोता है, पूरा देश

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सेना और अर्द्ध सैनिक बलों के जवान सीमान्त एवं दुर्गम क्षेत्रों में देश की रक्षा के लिए कठिन परिस्थितियों में कार्य करते हैं। इन सैनिकों की वजह से पूरा देश चैन की नींद सोता है। हमारे जवान अपने परिवारों से दूर रहकर देश की रक्षा के लिए जिस वीरता एवं साहस से अपने कर्तव्यों का निर्वहन करते है। इसके लिए वे निश्चित रूप से बधाई के पात्र हैं।

आईटीबीपी के जवान

सीएम ने कहा कि आज सेना एवं आईटीबीपी के जवानों के साथ मुझे कुछ समय बिताने का मौका मिला, यह मेरे लिए सौभाग्य की बात है। उत्तराखण्ड का सेना एवं अर्द्धसैन्य बलों से गहरा नाता रहा है। यहां के अनेक जवान इन सैन्य बलों में सेवाएं दे चुके हैं एवं दे रहे हैं।

देश का सम्मान

मुख्यमंत्री ने कहा कि मेरे पिताजी भी सेना में रहे हैं, एक सैनिक परिवार से होने के नाते मेरा सैनिकों से व्यक्तिगत लगाव भी है। सेना एवं अर्द्ध सैन्यबलों के प्रति देश का सम्मान, श्रद्धा एवं विश्वास का भाव रहता है। हमारे सैन्य बल दुनिया के सर्वोत्कृष्ट सैन्य बल माना जाता है। उन्होंने कहा कि इतने दुर्गम एवं सीमान्त क्षेत्रों में महिला अधिकारी जिस जज्बे के साथ ड्यूटी कर रहे हैं, यह सबके लिए अनुकरणीय है।

सींमात क्षेत्रों में कैंपिंग

त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि राज्य के आई.ए.एस., आई.एफ.एस. एवं आई.पी.एस. अधिकारियों की कैंपिंग हम सींमात क्षेत्रों में साल भर में एक बार करेंगे। इस अवसर पर क्षेत्रीय विधायक गोपाल सिंह रावत, मुख्यमंत्री के औद्योगिक सलाहकार डॉ. के.एस.पंवार, विशेष सचिव पराग मधुकर धकाते, जिलाधिकारी उत्तरकाशी मयूर दिक्षित, पुलिस अधीक्षक पंकज भट्ट, सेना एवं आईटीबीपी के जवान उपस्थित थे।

यह भी पढ़े:पटाखों पर प्रतिबंध के बावजूद जमकर हुई आतिशबाजी, प्रशासन अंकुश लगाने में नाकाम

यह भी पढ़े:सोनभद्र में दर्दनाक सड़क हादसा, दो लोगों की मौत, तीन गंभीर रूप से घायल

Related Articles

Back to top button