कोरोना काल में शादी करना मुसीबत, ‘कार्ड बंट गये अब किसको मना करें’

सहारनपुर: उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण के प्रसार को रोकने के मकसद से विवाह समारोह में मेहमानों की संख्या 200 के बजाए 100 कर दिए जाने से आयोजक परेशान हो गए हैं। 

25 नवंबर को अकेले सहारनपुर शहर में 750 और जिले में करीब 1200 शादियां होनी हैं। इनके लिए आयोजक पूर्व के निर्देशों के तहत 200 मेहमानों को निमंत्रण कार्ड वितरित कर चुके थे। आयोजकों ने बैंड-बाजों, सजावट वालों और भोजन आदि की व्यवस्था भी 200 लोगों के अनुसार की हुई है। ऐसे में आयोजकों को नए निर्देशों के अनुसार 100 अतिथियों की सीमा का पालन करना उनकी मुश्किलें बढ़ा गया है।

वेंकट हाल और रिसार्ट संचालकों आदि का कहना था कि इस बार शादियों का मुहूर्त 14 दिसंबर तक ही है। ऐसे में राज्य सरकार को 15 दिसंबर तक नई गाइड लाइन नहीं लागू करनी चाहिए थी। नई गाइड लाइन के जारी होने से शादियों के आयोजक,होटल मालिक,वेंकट हाल संचालक सभी परेशान हैं। लोगों का कहना है कि जो कार्ड बांट चुके हैं वो कैसे मेहमानों को आने से रोके।

उधर जिलाधिकारी अखिलेश सिंह ने 14 दिनों में 15 थानों क्षेत्रों के 48 स्थानों पर कोई कोरोना संक्रमण नहीं पाए जाने से हाट स्पाट क्षेत्रों में कंटेनमेंट जोन समाप्त कर दी हैं। जिलाधिकारी ने यह भी कहा है कि 30 नवंबर तक जिले में किसी भी तरह की साप्ताहिक बंदी लागू नहीं होगी। हर दिन दुकानें, प्रतिष्ठान, सामान बिक्री केंद्र खोले जाएंगे।

यह भी पढ़ें: विश्व में कोरोना संक्रमण का आंकड़ा 5.91 करोड़ के पार, 13.95 लाख से अधिक लोगों की मौत

Related Articles