अभी खत्म नहीं हुईं तलवार दंपत्ति की मुश्किलें, मिला एक और झटका, फिर से जाना पड़ सकता है जेल

0

नई दिल्ली। नोएडा के चर्चित आरुषि- हेमराज हत्याकांड मामले में हेमराज की पत्नी खुमकला बंजाडे सुप्रीम कोर्ट पहुंच गई हैं। हाल ही में रिहा हुए आरुषि के माता- पिता राजेश और नूपुर तलवार की रिहाई से हेमराज का परिवार बिलकुल खुश नहीं है। हेमराज की पत्नी का कहना है कि वो सुप्रीम कोर्ट जाएंगी, क्योंकि उन्हें लगता है कि उनके साथ न्याय नहीं किया गया है। खुमकला बंजाडे की याचिका में कहा गया है कि वो हाईकोर्ट के फैसले से खुश नहीं है।

हेमराज की पत्नी ने सुप्रीम कोर्ट में दायर की याचिका

पत्नी खुमकला बंजाडे ने अपनी याचिका में सुप्रीम कोर्ट के उस आदेश का हवाला भी दिया गया है जिसमें कहा गया है कि अगर घर के भीतर कोई हत्या होती है तो घर में मौजूद व्यक्ति की यह जिम्मेदारी बनती है कि वह घटनाक्रम की जानकारी दें।

लेकिन इस मामले में तलवार दंपती यह बताने में असफल रहे हैं कि आखिर आरूषि और हेमराज की हत्या कैसे हुई और किसने की। याचिका में कहा गया कि निचली अदालत का फैसला सही है और उसे बहाल किया जाना चाहिए।

ये है पूरा मामल

16 मई 2008 की रात को नोएडा के जलवायु विहार में आरुषि की उसके ही घर में हत्या कर दी गई थी। एक दिन बाद उसके नौकर हेमराज का शव उसी घर की छत से मिला। 5 दिन बाद पुलिस ने ये दावा करते हुए आरुषि के माता-पिता को गिरफ्तार कर लिया कि राजेश ने आरुषि और हेमराज को आपत्तिजनक हालत में देखने के बाद दोनों की हत्या कर दी।

इस मामले की जांच एक जून को सीबीआई को सौंप दी गई थी। सीबीआई की जांच के आधार पर गाजियाबाद की सीबीआई कोर्ट ने 26 नवंबर, 2013 को हत्या और सबूत मिटाने का दोषी मानते हुए उम्रकैद की सजा सुनाई थी। इसके बाद से तलवार दंपति जेल में बंद थे जिन्हें 12 अक्टूबर को हाईकोर्ट ने सबूतों के अभाव के कारण बरी कर दिया है।

 

loading...
शेयर करें