प्रेसिडेंट इलेक्शन से पहले ट्रम्प कैम्पेन का शान्ति दूत एजेंडा

यूएस में आले वाले कुछ दिनों में राष्ट्रपति चुनाव होने वाला है. ऐसे में मौजूदा राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प अपनी गद्दी बचाने के लिए हर संभव प्रयास करने में जुट गए है. हाल के कुछ दिनों में तमाम विज्ञापनों के जरिए ट्रम्प को शान्ति दूत के तौर पर लगातार प्रोजेक्ट किया जाता रहा है.

0

नई दिल्ली:यूएस में आले वाले कुछ दिनों में राष्ट्रपति चुनाव होने वाला है. ऐसे में मौजूदा राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प अपनी गद्दी बचाने के लिए हर संभव प्रयास करने में जुट गए है. हाल के कुछ दिनों में तमाम विज्ञापनों के जरिए ट्रम्प को शान्ति दूत के तौर पर लगातार प्रोजेक्ट किया जाता रहा है. सोशल मीडिया पर लगातार ट्रम्प कैंपेन चलाया जा रहा है. हालही में ट्रम्प कैम्पेन के जरिये सोशल मीडिया पर एक पोस्ट शेयर करते हुए लिखा गया की राष्ट्रपति ट्रम्प ने मिडिल ईस्ट में शान्ति बनाये रखने में काफी अहम भूमिका निभाई है. जिसके लिए उन्हें नोबेल पीस पुरस्कार के लिए चयनित किया गया है.

मंगलवार को काफी लंबे समय से इजरायल के कूटनीतिक विरोधी रहे बहरीन और संयुक्त अरब अमीरात (युएई) के बीच शान्ति समझौते पर आधिकारिक मुहर लग गई. गौरतलब है की इजरायल के साथ इन दोनों देशों के शान्ति समझौते की जानकारी सबसे पहले व्हाइट हाउस ने शेयर की थी. इस समझौते का श्रेय भी ट्रम्प को दिया जा रहा है. तमान विज्ञापनों. के जरिये ये बताने की कोशिश लगातार की जा रही है की ट्रम्प शान्ति दूत है और उन्होंने मिडिल ईस्ट को एक साथ खड़ा किया है.

ट्रम्प खाड़ी देशों की पहली पसंद बन गए है. इजरायल के राष्ट्रपति बेंजामिन नेतन्याहू के आलावा तमाम कड़ी देश के नेता ट्रम्प को फिर से सत्ता में वापस आते देखना चाहते है.

loading...
शेयर करें