ईरान के परमाणु ठिकानों पर हमला करने की फिराक में थे ट्रंप, चेतावनी के बाद फैसला लिया वापस

वाशिंगटन: अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को जो बाइडेन से मिली करारी हार के बाद वह अब अपने बचे कार्यकाल में दुश्मन देशों से बदला लेने का सोच रहे हैं। ट्रंप ईरान के परमाणु ठिकानों पर हमला करने की फिराक में थे। लेकिन उन्हें उपराष्ट्रपति माइक पेंस, विदेश मंत्री माइक पोम्पियों और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों की चेतावनी के बाद अपना फैसला वापस लेना पड़ा।

न्‍यूयॉर्क टाइम्‍स की रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने एक बैठक में अपने वरिष्ठ अधिकारियों से ईरान के परमाणु ठिकानो पर हमला करने को लेकर बात की थी। जिसपर अमेरिका के उपराष्ट्रपति माइक पेंस, विदेश मंत्री माइक पोम्पियों और अन्य वरिष्ठ अधिकारियों ने ईरान के परमाणु कार्यक्रम को लेकर हमला नहीं करने का आग्रह किया है।

अखबार ने बताया कि डोनाल्ड ट्रंप ने अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा प्राधिकरण (आईएईए) के निरीक्षकों द्वारा ईरान के यूरेनियम भंडार को संयुक्त व्यापक कार्य योजना (जेसीपीओए) के तहत अनुमत मात्रा से 12 गुना तक बढ़ जाने के बाद यह बैठक की थी।

रिपोर्ट में कहा गया है कि अमेरिका के वरिष्ठ अधिकारियों ने ट्रंप को बताया कि इस तरह की कार्रवाई से एक व्यापक संघर्ष में बढ़ सकते हैं।

यह भी पढ़ें: अमेरिकी राजनयिक सचिव मैरी रॉयस, मुस्लिम देशों की यात्रा पर

Related Articles

Back to top button