तुर्की ने लगाया सोशल मीडिया कंपनियों पर जुर्माना

बीटीके ने कहा कि इन प्रसिद्ध कंपनियों के वैश्विक स्तर पर कई देशों में स्थानीय कार्यालय हैं, लेकिन एक स्थानीय प्रतिनिधि को नियुक्त करने के तुर्की सरकार के अनुरोध को लंबे समय से नजरअंदाज किया है।

अंकारा: तुर्की सरकार ने स्थानीय प्रतिनिधियों की नियुक्ति नहीं करने पर विभिन्न सोशल मीडिया कंपनियों पर एक करोड़ तुर्की लीरा (1.18 मिलियन डॉलर) का जुर्माना लगाया है। सूचना और संचार प्रौद्योगिकी प्राधिकरण (बीटीके) के अनुसार इन सोशल मीडिया कंपनियों में ट्विटर, फेसबुक, इंस्टाग्राम, यूट्यूब, पेरिस्कोप और टिकटॉक शामिल हैं।

तुर्की से 10 लाख से अधिक बार इनका एक्सेस किया जाता है। इस बीच, रूसी साइट वीके ने जुर्माना से बचने के लिए हाल ही में एक प्रतिनिधि नियुक्त किया।

बीटीके ने कहा कि इन प्रसिद्ध कंपनियों के वैश्विक स्तर पर कई देशों में स्थानीय कार्यालय हैं, लेकिन एक स्थानीय प्रतिनिधि को नियुक्त करने के तुर्की सरकार के अनुरोध को लंबे समय से नजरअंदाज किया है। तुर्की में एक अक्टूबर से एक नया सोशल मीडिया कानून लागू हुआ और अपने स्थानीय प्रतिनिधियों को नियुक्त करने के लिए सोशल प्लेटफॉर्म को 30 दिनों का समय दिया गया था जो सोमवार को समाप्त हो गया।

कानून के अनुसार अगर ये प्लेटफ़ॉर्म 30 दिनों में प्रतिनिधि नियुक्त नहीं कर पाते हैं, तो देश तीन करोड़ तुर्की लीरा (लगभग 3.6 मिलियन डॉलर) का अतिरिक्त जुर्माना लगाएगा।

यह भी पढ़ें- किसानों को आत्मनिर्भर बनाने में बैंकों की महत्वपूर्ण भूमिका: पटेल

Related Articles

Back to top button