ऑस्ट्रिया सरकार के 7 मस्जिदें बंद करने पर भड़का तुर्की, कह दी ये बड़ी बात

अंकारा। तुर्की ने ऑस्ट्रिया के सात मस्जिदों को बंद करने और 40 इमामों को निलंबित करने के फैसले की निंदा की है। इन मस्जिदों को विदेश से आर्थिक मदद मिल रही थी। तुर्की के विदेश मंत्रालय के मुताबिक, हम ऑस्ट्रिया के नेताओं, विशेष रूप से चांसलर सेबास्टियन क्रूज की नस्लवाद, इस्लामोफोबिया और जिनोपोबिया से निपटने के बजाए इससे राजनीतिक हित साधने के कदम की निंदा करते हैं।

ऑस्ट्रिया

उन्होंने कहा कि ये हरकतें इस्लाम से डर पैदा करने वाली, नस्लीय हिंसा और भेदभाव से भरी है।तुर्की के उपप्रधानमंत्री बेकिर बोजडाग ने ऑस्ट्रिया के इस कदम को अस्वीकार्य बताते हुए कहा कि यह धर्म की आजादी को नष्ट कर देगा। तुर्की के विदेश मंत्री मेवलुत कावसोग्लू ने शुक्रवार को इस तरह के अन्याय के खिलाफ आवाज उटाने और तुर्की के अधिकारों की रक्षा करने की प्रतिबद्धता जताई।

इन सात मस्जिदों के अलावा ऑस्ट्रिया सरकार देश के बाकी इमामों की जांच करवा रही है। वहां की सरकार ने जानकारी दी कि फिलहाल देश के 260 में से 60 इमामों की जांच चल रही है। जांच के आधार पर सरकार ने दावा किया कि अबतक जिन इमामों से पूछताछ की जा चुकी है उनमें से 40 इमामों का मुस्लिम समूह एआईटीबी से संबंध है। बता दें कि ये समूह तुर्की सरकार के करीबी माने जाते है। ऑस्ट्रिया के चांसलर ने शुक्रवार को एक बयान में कहा, ‘हमारे देश में इस्लाम के राजनीतिक इस्तेमाल और कट्टरपंथी प्रवृत्तियों की कोई जगह नहीं है’।

Related Articles