तुर्की के स्वास्थ मंत्री ने कहा, ‘टीके के मिलने में हो सकती देरी’

अंकारा: देश में कोरोना महामारी से निजात पाने के लिए सभी देश वैक्सीन बनाने में जुचे हुए हैं। कई देशों में कोरोना की वैक्सीन लोगों के लगना शुरु भी हो गई है। कई देश दूसरे देशों से खरीद कर अपने नागरिकों को कोरोना से बचाने का प्रयास कर रहे हैं। तुर्की में भी जल्द लोगों को कोरोना की वैक्सीन मिलना शुरु हो जाएगी। हालांकि तुर्की के स्वास्थ मंत्री फ्रेटेटिन कोका ने कहा कि चीन से आने वाली सिनोवैक बायोटेक के टीके की पहली खेप वहां के सीमा शुल्क विभाग द्वारा रोके जाने के कारण टीके के मिलने में देरी हो सकती है।

तुर्की के स्वास्थ्य मंत्री फ्रेटेटिन कोका ने ट्वीट कर कहा, “बीजिंग सीमा शुल्क विभाग में कोविड-19 मामले के कारण इसके संचालन को अस्थायी रूप से रोक दिया गया है। इसलिए टीकों के आने में एक से दो दिन की देरी हो सकती है।”

तुर्की को सिनोवैक टीके की पांच करोड़ खुराक और साथ ही फाइजर और बायोएनटेक के टीके की 4.5 करोड़ खुराक मिलने की उम्मीद है। देश में अधिक जोखिम वाले समूहों में चार चरणों में कोविड-19 टीकाकरण कार्यक्रम चलाए जाने की उम्मीद है।

कोरोना वायरस महामरी के प्रसार को रोकने के लिए राष्ट्रपति रेसेप तैयप एर्दोगन की योजना के तहत 31 दिसंबर से चार जनवरी सुबह तक देश मेें लॉकडाउन लागू किया जा सकता है।

यह भी पढ़ें: तरुण चुघ ने पंजाब के मुख्यमंत्री पर लगाया आरोप, दे रहे अर्बन नक्सलवाद को बढ़ावा

Related Articles