पिछले साल Twitter CEO को सैलरी में मिले सिर्फ 97 रुपए, जानिए क्या है वजह

0

वॉशिंगटन: ट्विटर के सीईओ जैक डोर्सी ने पिछले साल वेतन में महज 1.40 डॉलर (96.87 रुपए) ही मिले। साल 2015 में सीईओ बनने के बाद से लगातार तीन साल से अब तक सभी भत्तों व लाभ को नहीं लिया है। अमेरिकी प्रतिभूति एवं विनिमय आयोग (एसईसी) के साथ एक फाइलिंग में कंपनी ने खुलासा किया कि ऐसा पहली बार है, जब डोर्सी ने 2015 के बाद से ट्विटर से तनख्वाह ली है।

ट्विटर की फाइलिंग के हवाले से बताया जा रहा है कि तीन साल तक सभी भत्तों और लाभ नहीं लेने के पीछे का कारण डोर्सी के ट्विटर की दीर्घकालिक मूल्य सृजन क्षमता में उनकी प्रतिबद्धता और विश्वास को मान्यता को देता है।

कंपनी से सांकेतिक सैलरी लेने का यह पहला मामला नहीं है। इससे पहले एपल के फाउंडर स्टीव जॉब्स, गूगल के एरिक स्क्मिड्ट, सेर्जे ब्रायन और लैरी पेज सीईओ के रूप में सांकेतिक सैलरी लेते रहे हैं। दरअसल, ये सब वन डॉलर सैलरी क्लब में शामिल शख्सियतें हैं, जो बड़े पैमाने पर इक्विटी स्टेक के साथ अमीर हैं।

बताते चलें कि कई कंपनियों ने अपने सीईओ को 1 डॉलर का पेमेंट दिया है। कई बार धनी संस्थापकों पैसों की जरूरत नहीं होने की वजह से ऐसा किया, तो कई बार संकट या कठिन समय के दौरान एक प्रतीकात्मक इशारा करने के लिए उन्होंने एक डॉलर सैलरी ली।

हालांकि, डॉर्सी ऐसा पहले भी कर चुके हैं। वह मोबाइल भुगतान प्रणाली स्क्वायर के सीईओ भी हैं, जिसने उन्हें साल 2017 में 2.75 डॉलर (करीब 190 रुपए) के वेतन का भुगतान किया था। स्क्वायर स्वाइप ट्रांजेक्शन के बदले में 2.75 प्रतिशत प्रॉसेसिंग फीस लेता है।

loading...
शेयर करें