बिडेन के मामले के बाद ट्विटर ने किया ‘हैकिंग सामग्री नीति’ में बदलाव

वाशिंगटन: अमेरिका में डेमोक्रेटिक पार्टी की तरफ से राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार जो बिडेन से जुड़े लेखों के ट्विटर पर से हटाए जाने के बाद सोशल मीडिया पर फैले आक्रोश को ध्यान में रखते हुए ट्विटर ने शुक्रवार को “ हैकिंग सामग्री नीति” में बदलाव कर दिया। ट्विटर ने इससे पहले गुरुवार को अमेरिकी अखबार दि न्यूयॉर्क पोस्ट में यूक्रेन की एक संस्था बूरिस्म के एक बड़े अधिकारी वादिम पोज़्हारसकई और जो बिडेन के बेटे हंटर बिडेन के बीच बातचीत के दो ईमेल जारी किये थे जिसमें पोज़्हारसकई ने उनके पिता के साथ बैठक आयोजित करने को लेकर हंटर का धन्यवाद किया था और पूछा था कि श्री जो बिडेन यूक्रेनी कंपनी का समर्थन करने के लिए अपने ‘प्रभाव’ का किस तरह से इस्तेमाल कर सकते हैं।

ट्विटर 'हैकिंग सामग्री नीति'
ट्विटर ‘हैकिंग सामग्री नीति’

ट्विटर ने इस मामले से जुड़े लेखों की पहुंच सोशल मीडिया पर प्रतिबंधित कर दिया था और इसी को लेकर ट्विटर ने आज कहा कि वह अपने प्लेटफार्म का आपत्तिजनक सामग्री फैलाने के लिए उपयोग करने नहीं दे सकता और वह अबसे हैकर्स द्वारा जारी सूचना के लिंक के साथ ट्वीट को हटाने के बजाए चिन्हित करना शुरू करेगा।

ट्विटर के कानूनी, नीति, ट्रस्ट और सुरक्षा की प्रमुख विजया गदे के अनुसार इस कदम ने पिछले 24 घंटों में उपयोगकर्ताओं से “महत्वपूर्ण प्रतिक्रिया” की शुरूआत की है। उन्होंने कहा इस प्रतिक्रिया पर विचार करने के बाद हमने नीति में बदलाव करने और इसे लागू करने का तरीका तय किया है। उन्होंने कहा अब से हैकर्स द्वारा ट्विटर पर पोस्ट किये कंटेंट को हटाया नहीं जाएगा हालांकि, यदि हैकर्स सीधे तौर पर कोई कंटेंट पोस्ट करेंगे तो उन्हें हटाया जाएगा। इसके अलावा ट्विटर अब हैकर्स को कंटेंट को हटाने की वजह उन पर संदर्भ जारी करेगा जबकि हैकिंग के अन्य नियम वही रहेंगे।

इसे भी पढ़े: सिमफेरोपोल उड़ान क्षेत्र से उड्डयन पर लगे प्रतिबंधों को अमेरिका ने किया हटाने का फैसला

Related Articles