कुशीनगर में दो युवतियों की मौत, परिजनों ने बिना पोस्टमार्टम किया अंतिम संस्कार

हादसे की शिकार दोनों युवतियों की अगले साल मई महीने में शादी तय थी। गांव की युवतियां पीड़िया दहाने के लिए सोमवार को पूरे दिन व्रत रहीं।

कुशीनगर: उत्तर प्रदेश में कुशीनगर के पडरौना कोतवाली क्षेत्र में मंगलवार को पीड़िया दहाने के दौरान तीन युवतियां पोखरे के गहरे पानी में डूब गईं। इनमें एक को बचा लिया गया मगर दो युवतियों की मृत्यु हो गयी।

हादसे की शिकार दोनों युवतियों की अगले साल मई महीने में शादी तय थी। गांव की युवतियां पीड़िया दहाने के लिए सोमवार को पूरे दिन व्रत रहीं। मंगलवार को वह उल्लास के साथ नाचते गाते पीड़िया लिए गांव के बाहर अस्पताल के पास स्थित पोखरे पर गयीं। पानी में पीड़िया दहा देने के लिए शालिनी (18), शोभा (17) एवं इन्हीं की उम्र की सपना पोखरे के अंदर चली गयीं। गहरे पानी में चले जाने से तीनों युवतियां डूबने लगीं।

तीनों को डूबता देख साथ में रहीं अन्य लड़कियाें ने उन्हें बचाने का प्रयास किया और कामयाबी न मिलने पर शोर मचाना शुरू किया। शोर सुनकर ग्रामीण दौड़ते हुए पोखरे पर पहुंचे, तब करीब आधे घंटे का समय बीत चुका था। ग्रामीणों ने अथक प्रयास के बाद सपना को बचा लिया मगर जब तक शालिनी और शोभा को पोखरे से बाहर निकाला गया, उनकी मौत हो चुकी थी। एक साथ गांव के दो लड़कियों की मौत से ग्रामीणों में मातम पसर गया। परिजनों ने दोनों का अंतिम संस्कार कर दिया।

यह भी पढ़े:

Related Articles