लखनऊ में ताबड़तोड़ गोली मारकर बदमाशों ने की कारोबारी की हत्या दो गिरफ्तार

0

उत्तर प्रदेश : राजधानी लखनऊ के आलमबाग के चंदर नगर निवासी अमनप्रीत सिंह की बदमाशों ने गोली मारकर हत्या कर दी। वारदात के वक्त व्यापारी दुकान बंदकर घर जाने की तैयारी कर रहा था। जिस वक्त हत्यारों ने ताबड़तोड़ फायरिंग की, उस वक्त वह अपनी बुलेट के पास खड़ा था। इसी बीच तीन बदमाश पैदल पहुंचे और उसे निशाना बनाकर गोलियां चला दीं। एक गोली उसके कनपटी के दाहिने तरफ लगी और आरपार हो गई। गोली चलने की आवाज सुनकर बाजार में अफरा-तफरी मच गई। कारोबारी को ट्रॉमा सेंटर ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस मामले को रुपये से लेनदेन से जोड़कर देख रही है। इस मामले में तीन नाम सामने आए हैं। जिनकी तलाश में पुलिस दबिश दे रही है। पुलिस ने दो संदिग्ध लोगों को हिरासत में ले लिया है।


आलमबाग के चंदरनगर निवासी अमनप्रीत की मार्केट में अविराज के नाम से रेडीमेड गारमेंट की दुकान है। अमनप्रीत बुधवार रात करीब 10.30 बजे दुकान बंद कर घर जाने की तैयारी कर रहा था। उसके साथ नौकर सागर और सनी उर्फ बाबू था। क्षेत्राधिकारी आलमबाग संजीव सिन्हा के मुताबिक, दोनों नौकरों ने पाली, सोनू और राजू पर फायरिंग करने का आरोप लगाया है।

उधर, आलमबाग में हत्या की सूचना मिलते ही राजधानी के पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। मौके पर एडीजी राजीव कृष्ण, आईजी एसके भगत, एसएसपी कलानिधि नैथानी पहुंचे। तीनों मौका मुआयना करने के बाद ट्रॉमा सेंटर गए। वहां परिवारीजनों से बातचीत कर हत्या के कारण के बारे जानकारी हासिल की।

सीओ के मुताबिक अमनप्रीत सिंह सूद पर रुपये देता था। उसने पाली नाम के एक व्यक्ति को 20 लाख रुपये दिए था। पाली यह रकम वापस नहीं दे रहा था। इसी बात पर दोनों के बीच कई दिनों से कहासुनी चल रही थी। बुधवार दोपहर को भी पाली और अमनप्रीत के बीच कहासुनी हुई।

रुपये न देने पर अमनप्रीत ने पाली की एसयूवी रखवा ली। यह बात पाली को नागवार गुजरी। वह चला तो गया लेकिन रात नौ बजे राजू और सोनू के साथ आया और धमकी देकर चला गया। नौकरों के मुताबिक, वे तीनों दोबारा आए और हत्या कर भाग निकले।

loading...
शेयर करें