मोस्टवांटेड विकास दुबे के दो साथी प्रभात मिश्रा और बऊआ दुबे एनकाउंटर में ढेर

मोस्टवांटेड पांच लाख के इनामी विकास दुबे के दो और साथियों को पुलिस ने एनकाउंटर में ढेर कर दिया है। विकास के साथी प्रभात को कानपुर के पनकी और बऊआ दुबे उर्फ प्रवीण को इटावा में एनकाउंटर में ढेर कर दिया है। इससे पहले बुधवार की सुबह विकास के खास गुर्गे अमर दुबे हमीरपुर में मुठभेड़ में मारा गया था।बुधवार को फरीदाबाद क्राइम ब्रांच ने उधर, इटावा सिविल लाइन पुलिस ने कचौरा रोड पर एक मुठभेड़ में एक बदमाश को मार गिराया, जिसकी पहचान कानपुर के बिकरू कांड के मुख्य आरोपी विकास दुबे के सदस्य के रूप में की गई हैl कानपुर इटावा हाईवे पर बकेवर इलाके के महेवा के पास सुबह 3 बजे एक स्विफ्ट डिजायर को लूट कर भाग रहे चार बदमाशों को सिविल लाइन इलाके में कचौरा रोड पर पुलिस ने घेर कर के रोकने की कोशिश की बदमाशों ने पुलिस टीम पर फायरिंग कीlविकास के साथी प्रभात मिश्रा और दो अन्य लोगों को गिरफ्तार किया गया था।

उसके कब्जे से चार पिस्टल और 44 कारतूस बरामद किए गए थे। इसमें 2 पिस्टल घटना के समय पुलिस से लूटी गई थीं। फरीदाबाद की कोर्ट में पेश करने के बाद यूपी पुलिस उसे ट्रांजिट रिमांड पर कानपुर ला रही थी और एसटीएफ की टीम इस्कॉर्ट कर रही थी। कानपुर में आने पर पनकी थाना क्षेत्र में गाड़ी पंक्चर हो गई। इस बीच प्रभात मौका पाते ही पुलिस की पिस्टल छीनकर भागने लगा और पीछा करने पर पुलिस पार्टी पर फायरिंग की। इसमें एसटीफ के दो आरक्षी गंभीर रूप से घायल हो गये, वहीं जवाबी फायरिंग में गोली लगने से प्रभात भी घायल हो गया। उसे अस्पताल ले ज़ाया गया, जहां उसकी मौत हो गई। प्रभात मिश्रा का कोई आपराधिक इतिहास नहीं है और उसके खिलाफ कोई मुकदमा दर्ज नहीं है। दो जुलाई को बिकरू कांड में वह भी नामजद है और पुलिस ने पचास हजार का इनाम घोषित कर रखा था।

बदमाशों की फायरिंग देख पुलिस ने आत्मरक्षा में फायरिंग की, जिसमें एक बदमाश गोली लगने से घायल हुआ जिसे अस्पताल लाया गया जहां उसकी मौत हो गई, जबकि अन्य बदमाश मौके से फरार हो गए है। एसएसपी आकाश तोमर ने बताया कि बदमाश की पहचान कानपुर चौबेपुर के बिकरू निवासी बऊआ दुबे उर्फ प्रवीण के रूप में हुई है, वह बिकरू कांड के आरोपितों में शामिल था और उसपर पचास हजार का इनाम भी घोषित हैl उसके कब्जे से एक पिस्टल, एक डबल बैरल बंदूक और कई कारतूस बरामद किए गए हैं। उसपर आठ मुकदमे दर्ज होने की बात कही जा रही है  और उसपर पचास हजार का इनाम घोषित था।

Related Articles