फाइजर की कोरोना वैक्सीन लगवाने के बाद ब्रिटेन में दो लोगों को एलर्जी

ब्रिटेन ने मंगलवार को कोरोना के खिलाफ टीकाकरण अभियान की शुरूआत की। नब्बे वर्षीय मार्गरेट कीनन पूरे विश्व में टीके का डोज लेने वाले पहली महिला बन गई है।

लंदन: ब्रिटेन के स्वास्थ्य अधिकारियों ने चेतावनी दी है कि गंभीर एलर्जी प्रतिक्रियाओं वाले लोगों को फाइजर और बायोएनटेक की ओर से विकसित कोविड-19 वैक्सीन के टीके नहीं लगाना चाहिए। स्काई न्यूज प्रसारणकर्ता ने बुधवार को इस आशय की जानकारी दी।

ब्रिटेन ने मंगलवार को कोरोना के खिलाफ टीकाकरण अभियान की शुरूआत की। नब्बे वर्षीय मार्गरेट कीनन पूरे विश्व में टीके का डोज लेने वाले पहली महिला बन गई है। दो एनएचएस कर्मचारियों को टीका लगाए जाने के बाद हालांकि एलर्जी संबंधी दिक्कतें हुईं।

यूके मेडिसिन्स एंड हेल्थकेयर प्रोडक्ट्स रेगुलेटरी एजेंसी ने कथित तौर पर एनएचएस ट्रस्टों को सलाह दी है कि ड्रग्स, टीके या भोजन के कारण होने वाले महत्वपूर्ण एलर्जी की प्रतिक्रिया वाले लोगों को टीका नहीं लगाया जाना चाहिए।

एनएचएस इंग्लैंड ने पुष्टि की है कि टीकाकरण कार्यक्रम में भाग लेने वाले सभी ट्रस्टों को इसके बारे में पता है और बुधवार से सभी लोगों से पूछा जाएगा कि क्या उनमें पहले से एलर्जी का इतिहास है या नहीं।

यह भी पढ़े: पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा, धान खरीद को लेकर सरकार के रवैये से किसान आत्महत्या को मजबूर

यह भी पढ़े: लुईस मरांडी ने दिया करारा जवाब, नहीं रोक सकते बलात्कार तो चूड़ियां पहन ले हेमंत सरकार

Related Articles

Back to top button