सहमति से हो रही थी दो धर्मो की शादी, लेकिन पुलिस ने किया यह काम

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में पुलिस ने एक शादी को अंतर-धार्मिक विवाह के नाम पर रोक दिया। यह शादी बुधवार को दो अलग धर्मो के बीच हो रही थी।

लखनऊ: उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में पुलिस ने एक शादी को अंतर-धार्मिक विवाह के नाम पर रोक दिया। यह शादी बुधवार को दो अलग धर्मो के बीच हो रही थी। जिसको पुलिस ने नए कानून का हवाला देकर रोक दिया जबकि इस शादी में हिन्दू व मुस्लिम दोनों रीतिरिवाज के अनुसार शादी होने की तैयारी थी।

शादी होने वाली लड़की का नाम रैना गुप्ता (22) और लड़के का नाम मोहम्मद आसिफ़ (24) है, यह शादी दो धर्मों के रीति-रिवाजों से शादी होनी थी लेकिन हिंदू महासभा ज़िला प्रमुख की सूचना के आधार पर पुलिस ने इस मामले में दख़ल दिया और शादी रोक दी। नए क़ानून के तहत शादी के लिए डीएम की अनुमति ज़रूरी है और नोटिस देने के दो महीने बाद ही शादी की जा सकती है उससे पहले करने पर शादी को कानूनन अपराध मन जाएगा।

लेकिन दोनों परिवार के लोग डीएम के आदेश आने तक राज़ी हो गए है जिसके कारण किसी पर कोई FIR दर्ज नहीं किया गया है। पुलिस ने कहा कि इस शादी को उत्तर प्रदेश विधि विरुद्ध धर्म संपरिवर्तन प्रतिषेध अध्यादेश-2020 के तहत रोका गया है जिसमें कोई भी व्यक्ति शादी के लिए सीधे तौर पर या जबरन धर्म परिवर्तन न ही कर सकता है और न ही करवा सकता है जो एक दंडनीय अपराध है।

यह भी पढ़े: चीनी ऐप Tik-Tok को लेकर यह बड़ी बात आई सामने

Related Articles