अफगानिस्तान में सेवा के लिए अमेरिका ने अज़रबैजानी peacekeeper को दिया धन्यवाद

बाकू : अमेरिकी दूतावास ने अफगानिस्तान में सेवा करने वाले अज़रबैजानी peacekeeper सैनिकों को धन्यवाद दिया है। 1 सितंबर को अपने फेसबुक पेज पर पोस्ट किए गए एक संदेश में, अमेरिकी दूतावास ने कहा: “अफगानिस्तान में हवाई अड्डे पर सेवा करने वाले अज़रबैजानी शांति सैनिकों को धन्यवाद। हम अमेरिका और नाटो भागीदारों को हवाई अड्डे को सुरक्षित रखने और अमेरिकी नागरिकों की निकासी का समर्थन करने में उनकी सेवा के लिए आभारी हैं। हमें खुशी है कि ये शांति सैनिक अजरबैजान में सुरक्षित लौट आए हैं।”

धीरे धीरे peacekeeper की संख्या बढ़ती गई

इस कड़ी में आपकी जानकारी के लिए बता दें की अज़रबैजान का 120 सदस्यीय शांति रक्षक दल 27 अगस्त को अफगानिस्तान के काबुल अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर सेवा देने के बाद बाकू लौट आया। इस कड़ी में आपकी जानकारी के लिए बता दें की 20 नवंबर, 2002 को, अज़रबैजानी सेना की 22 सदस्यीय शांति इकाई ने अंतर्राष्ट्रीय सुरक्षा सहायता बल (आईएसएएफ) के हिस्से के रूप में अफगानिस्तान में काम करना शुरू कर दिया था। धीरे धीरे वक़्त बढ़ता गया और सिपाहियों की संख्या भी।

यह भी पढ़ें : रेलवे ने थ्री-टियर AC ट्रेनों में शुरू की इकोनॉमी क्लास की सुविधा

इस कड़ी में अफगानिस्तान में नाटो आईएसएएफ संचालन में अज़रबैजानी शांति सेना के योगदान को बढ़ाने के लिए, 5 अक्टूबर, 2010 को, अज़रबैजान ने दो सैन्य डॉक्टरों और दो इंजीनियरों को भेजा, जिससे उसके शांति सैनिकों की संख्या 94 हो गई। 9 जनवरी, 2018 को, अज़रबैजान ने मिशन में अपने योगदान को बढ़ाने के लिए अपने कर्मचारियों को 94 से 120 तक बढ़ा दिया।  इस कड़ी में आपकी जानकारी के लिए बता दें अज़रबैजान के शांति सैनिक कोसोवो, इराक और सूडान में शांति अभियानों में भी भाग लेते हैं, अंतर्राष्ट्रीय शांति और सुरक्षा में योगदान करते हैं।’

यह भी पढ़ें : “चिकने घड़े पे पानी नहीं ठहरता” वाली कहावत सही बैठी, जानिए अमेरिकी सेना ने अफगानिस्तान से जाते-जाते क्या-क्या छोड़ गए

Related Articles