यूएई : रेजिडेंसी Guidelines पेश करते हुए कई नियमों को किया सरल

यूएई : अपनी इकोनॉमी को मजबूती देने के मकसद से देश में रह रहे विदेशियों के लिए रेजिडेंसी के नियमों में छूट देने के लिए नई Guidelines जारी करने का ऐलान किया है। इस कड़ी में आपकी जानकारी के लिए बता दें अब विदेशियों को यूएई में रहने के लिए एंप्लॉयर की ओर से स्पॉन्सरशिप की ज़रुरत नहीं पड़ेगी।

इस Guidelines से  तेल पर निर्भरता घटेगी

नब्बे फीसद नॉन रेजिडेंट विदेशिओं वाले देश यूएई में ग्रीन वीजा रेसिडेंट का डॉक्यूमेंट माना जाता है। इस कड़ी में आपकी जानकारी के लिए बता दें ग्रीन वीजा आंत्रप्रेन्योर्स और प्रोफेशनल्स के लिए रेजिडेंसी के साथ वर्क परमिट होता है। जबकि फ्रीलांस वीजा लोगों को स्वतंत्रता से कार्य करने में मदद करता है। इस कड़ी में यूएई ने एक बयान जारी कर यह भी बताया कि जिन लोगों की नौकरी चली जाती है तब भी उन्हें देश में छे महीने रहने की अनुमति मिलेगी, ताकि वह दूसरा काम ढूंढ सकें।

एंप्लॉयमेंट कॉन्ट्रैक्ट का इसपर कोई असर नहीं होगा। इस कड़ी में जानकारों के मुताबिक यूएई सरकार की इस ढील का मकसद देश की इकॉनमी को बेहतर करना है। क्यूंकि तेल पर डिपेंड यह देश अपनी इकॉनमी को डायवर्सिफाई करना चाहता है।

यह भी पढ़ें : सरकार की अर्थी निकालकर भाजपा को कंधा देगें चार विधायक, बोलेंगे राम राम सत्य

Related Articles