यूरो कप में की जिस्मफरोशी तो भेजा जाएगा Sex School

0

पेरिस। फ्रांस में UEFA Euro 2016 की उल्टी गिनती शुरू हो चुकी है। पूरा यूरोप 10 जून से 10 जुलाई तक सॉकर के रंग में रहेगा। लेकिन इसके साथ एक बड़ी समस्या सामने आ रही है सेक्स वर्कर्स की। फ्रांस की सरकार ने साफ कर दिया है कि अगर यूरो कप के दौरान कोई फैन प्रॉस्टीट्यूशन में पकड़ा जाएगा तो उस पर ढाई लाख का जुर्माना लगेगा और उसे सेक्स स्कूल भेज दिया जाएगा।

UEFA Euro 2016
सांकेतिक चित्र

UEFA Euro 2016 के दौरान सेक्स किया तो तगड़ा जुर्माना

फुटबॉल के महासमर में फिर चाहे वो विश्वकप हो या फिर यूरो कप फैन्स में गजब की दीवानगी रहती है। सेक्स वर्कर्स भी दूर दूर से आए फैन्स को खुश करने के लिए तैयार रहती। ऐसा ही कुछ देखने को मिल रहा है फ्रांस में जहां 10 जून से UEFA Euro 2016 के मैच खेले जाएंगे।

सेक्स वर्कर्स ने इसे देखते हुए अपने रेट्स बढ़ा दिए हैं। दूसरी तरफ इससे निपटने के लिए फ्रांस सरकार ने एक कड़े कानून को मंजूरी दी है। इस कानून के मुताबिक सेक्स के व्यापार को पूरी तरह गैरकानूनी ठहरा दिया गया है।

सरकार का कहना है कि यूरो कप के दौरान अगर कोई सेक्स करते पकड़ा जाएगा तो उससे ढाई हजार पॉन्ड यानि लगभग ढाई लाख रुपए का जुर्माना वसूला जाएगा। साथ ही उस व्यक्ति को सेक्स स्कूल में भेजा जाएगा जहां उसे ये बताने और समझाने की कोशिश की जाएगी कि सेक्स वर्कर्स को किन मजबूरियों में ये गैरकानूनी काम करना पड़ता है।

फ्रांस की न्यायपालिका से जुड़े अफसरों का कहना है कि इस कानून का कड़ाई से पालन किया जाएगा। यूरो कप में आने वाले फैन्स को ये बताने की कोशिश की जाएगी कि वो इन लड़कियों के साथ सेक्स करके अपराध करने जा रहे हैं।

दूसरी तरफ सेक्स वर्कर्स का कहना है कि इस तरह के कानून से उनका व्यवसाय चौपट हो जाएगा। हालांकि इस कानून में सेक्स वर्कर्स को नई जिंदगी देने के लिए हर साल 30लाख पॉन्ड को व्यवस्था की गई है। सेक्स वर्कर्स का कहना है कि इस कानून से किसी सेक्स वर्कर को कोई भला नहीं होगा बल्कि इससे फ्रांस की 30 हजार सेक्स वर्कर्स के सामने रोजी-रोटी का संकट खड़ा हो जाएगा।

फुटबॉल और सेक्स का संबंध सभी जानते हैं। लेकिन फ्रांस के इस कानून के बाद UEFA Euro 2016 में क्या होता है ये अब जल्दी ही साफ हो जाएगा।

 

loading...
शेयर करें