UN rights chief ने की अफ़ग़ानिस्तान में फैल रहे तालिबान की निंदा

जेनेवा : UN rights chief  ने एक बयान जारी कर कहा कि पूरे अफगानिस्तान में तालिबान की वजह से डर का माहोल है। जिसने मासूम लोगों को अपना घर-बार छोड़ भागने के लिए मजबूर कर दिया है।

UN rights chief : अगर तालिबान को ना रोका गया, तो यह तबाह कर देंगे हज़ारों

की ज़िंदगी

इस कड़ी में बाचेलेट ने अपने बयान में आगे  कहा कि चरमपंथियों के कब्जे वाले क्षेत्रों लगभग रोज़ाना में महिलाओं को बेरहमी से कोड़े से मारा जाता है और कभी कभी इसी बेरहमी की वजह से उनकी मौत तक हो जाती है। उन्होंने कहा बल्ख प्रांत में, “नियमों को तोड़ने के नाम पर एक महिला अधिकार कार्यकर्ता की गोली मारकर हत्या कर दी गई।

यह ही पढ़ें : सुरेश खन्ना की अध्यक्षता में हुई बुन्देलखण्ड-पूर्वाचंल के विकास हेतु मंत्री परिषद की बैठक

जिनेवा में, UN rights chief बाचेलेट की प्रवक्ता, रवीना शमदासानी ने कहा कि लोगों को “ठीक ही” डर था कि तालिबान पिछले दो दशकों के मानवाधिकारों के लाभ को एक चुटकी में तहस नहस कर देगा। क्यूंकि अब अमेरिका की वापसी से उनके में किसी का डर नहीं बचा है।

यह ही पढ़ें : पूर्व मुख्य सचिव के साथ मारपीट का मामला: CM केजरीवाल समेत 11 विधायक आरोपों से बरी

Related Articles