भारत की संस्था को संयुक्त राष्ट्र देगा खिताब, सौर ऊर्जा पहुंचा कर कई गांवो को किया रोशन

दूर दराज के समुदायों तक सौर ऊर्जा पहुंचाने वाली भारतीय संस्था को संयुक्त राष्ट्र ने खिताब से नवाजा है।

नई दिल्लीः कोरोना महामारी के दौरान पर्यटन और प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल कर दूर दराज के समुदायों तक सौर ऊर्जा पहुंचाने वाली भारतीय संस्था को संयुक्त राष्ट्र ने खिताब से नवाजा है।

पर्यटन और प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल कर दूर दराज के समुदायों को सौर ऊर्जा उपलब्ध कराने वाले भारतीय संगठन ग्लोबल हिमालयन एक्सपीडिशन (GHI) को इस साल यूनाइटेड नेशन ग्लोबल क्लाइमेट एक्शन अवॉर्ड से सम्मानित किया जाएगा।

मंगलवार को संयुक्त राष्ट्र की तरफ से की गयी घोषणा में GHI को कोरोना महामारी के दौरान दूर दराज के इलाकों तक सौर ऊर्जा पहुंचा कर जलवायु परिवर्तन से लड़ने के लिए इस खिताब से नवाजा जाएगा।

यूनाइटेड नेशन फ्रेमवर्क कन्वेंशन ऑन क्लाइमेट चेंज की वेबसाइट पर मौजूद जानकारी के अनुसार GHI पहला संगठन है जो पर्यटन और प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल दूरस्थ समुदायों तक सौर ऊर्जा पहुंचाने में करता है। GHI को विश्व यात्रा एवं पर्यटन परिषद (WTCC) और संयुक्त राष्ट्र विश्व पर्यटन संगठन (UNWTO) से मान्यता प्राप्त है।

GHI ‘इम्पैक्ट एक्सपीडिशन’ के तहत पर्यटन से मिले शुल्क और अन्य राशि का इस्तेमाल खासकर पहाड़ी क्षेत्रों में स्थित गांवों में सौर पैनल खरीदने, परिवहन, स्थापित करने और ग्रामीणों को प्रशिक्षित करने में खर्च करता है।

आपको बता दें कि GHI ने अब तक भारत के लगभग 131 गांवों को बिजली मुहैया करायी है। जिसके कारण 60 हजार ग्रामीणों की जीवशैली में सकारात्मक बदलाव देखने को मिला है।

Related Articles

Back to top button