कोविड प्रोटोकाल के तहत यूपी विधान परिषद की 11 सीटों पर 55 प्रतिशत हुआ मतदान

उत्तर प्रदेश विधान परिषद के पांच खंड स्नातक एवं छह शिक्षक खंड के द्विवार्षिक निर्वाचन के लिये मंगलवार को करीब 55 फीसदी मतदान हुआ। निर्वाचन आयोग से प्राप्त जानकारी के अनुसार इलाहाबाद-झांसी स्नातक खंड में सबसे ज्यादा मतदान हुआ

लखनऊ: उत्तर प्रदेश विधान परिषद के पांच खंड स्नातक एवं छह शिक्षक खंड के द्विवार्षिक निर्वाचन के लिये मंगलवार को करीब 55 फीसदी मतदान हुआ। निर्वाचन आयोग से प्राप्त जानकारी के अनुसार इलाहाबाद-झांसी स्नातक खंड में सबसे ज्यादा मतदान हुआ। वहीं गोरखपुर-फैजाबाद शिक्षक खंड में 70 फीसदी से अधिक लोगों ने अपने मताधिकार का प्रयाेग किया। इस दौरान सुरक्षा के चाक चौबंद इंतजाम किये गये थे। इक्का दुक्का स्थानों पर मामूली झड़प की घटनाओं को छोड़कर मतदान शांतिपूर्ण तरीके से कोविड प्रोटोकाल के तहत सम्पन्न हुआ। सुबह के समय मतदान की रफ्तार सुस्त रही जबकि धूप खिलने के साथ लोगों ने उत्साह के साथ अपने मताधिकार का प्रयोग किया।

आगरा स्नातक खंड में शाम चार बजे तक 35.23 फीसदी मतदाताओं ने वोट डाले थे जबकि इलाहाबाद झांसी स्नातक खंड में 42.87,लखनऊ स्नातक खंड में 34.26,मेरठ स्नातक खंड में 37.82,वाराणसी स्नातक खंड में 36.91 फीसदी मतदान हुआ था। इसी तरह शिक्षक खंड एमएलसी चुनाव में आगरा में 65.87,बरेली-मुरादाबाद में 69.72, गोरखपुर फैजाबाद सीट में 70.19,लखनऊ में 60.25,मेरठ में 58.38 और वाराणसी खंड सीट पर 65.27 फीसदी मतदान हुआ था। शाम चार बजे तक स्नातक और शिक्षक खंड में औसतन 52.41 फीसदी मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर चुके थे।

अखिलेश यादव ने सैफई पहुंचकर अपने मताधिकार का प्रयोग किया

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सैफई पहुंचकर अपने मताधिकार का प्रयोग किया। वहीं बलरामपुर मे मतदाता सूची मे गड़बड़ी का आरोप लगाते हुए सपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री डा एसपी यादव ने चुनाव को रद्द कर त्रुटिपूर्ण वोटर लिस्ट को ठीक कराए जाने की मांग की। जौनपुर में प्रदेश के राज्य मंत्री गिरीश चंद यादव अपने सहयोगियों के साथ पहुंचे और उन्होंने 184 बूथ संख्या पर अपना मत डाला। राज्य सभा सांसद हरनाथ सिंह यादव ने आज सबसे पहले एटा के जवाहर लाल नेहरू स्नातकोत्तर महाविद्यालय में अपने बेटे के साथ मतदान किया और कहा कि भारतीय जनता पार्टी स्नातक और शिक्षक एमएलसी की सभी सीटें जीतेगी।

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव

ये भी पढ़े : बिडेन ने संयुक्त राष्ट्र के महासचिवों से जलवायु परिवर्तन समेत वैश्विक मुद्दों पर की चर्चा

इन 11 सीटों पर 199 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं

इन 11 सीटों पर 199 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। मतदान सुबह आठ बजे शुरू होकर शाम पांच बजे तक चला हालांकि उसके बाद भी कतार में लगे लोगों को वोट डालने दिया गया। आगरा स्नातक खंड सीट पर कुल 22 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं जबकि इलाहाबाद झांसी स्नातक खंड सीट पर कुल 16,लखनऊ स्नातक खंड सीट पर 24,मेरठ स्नातक खंड सीट पर 30 और वाराणसी खंड स्नातक सीट पर कुल 22 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं।

ये भी पढ़े : सीएम योगी ने ट्राइडेंट होटल में अक्षय कुमार से की मुलाकात

कुल 12 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं

शिक्षक खंड एमएलसी चुनाव में आगरा में 16 मुरादाबाद में 15, गोरखपुर फैजाबाद सीट में 16,लखनऊ में 11,मेरठ में 15 उम्मीदवार और वाराणसी खंड सीट पर कुल 12 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। पांच खण्ड स्नातक निर्वाचन क्षेत्रों में 114 प्रत्याशी तथा छह खण्ड शिक्षक निर्वाचन क्षेत्रों में 85 प्रत्याशी मैदान में हैं। प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी अजय कुमार शुक्ला ने बताया कि विधान परिषद के इस निर्वाचन के लिए कानपुर नगर, कानपुर देहात एवं उन्नाव को छोड़कर प्रदेश के सभी 72 जिलों में वोट डाले जा रहे हैं।

Related Articles