यूपी में बेरोजगारी होगी खत्म, चार लाख लोगों को मिलेगा रोजगार  

अगले पांच वर्षों में इलेक्ट्रॉनिक सेक्टर में 40 हजार करोड़ के निवेश का लक्ष्य रखा गया है और चार लाख लोगों को रोजगार दिया जाएगा ।

जौनपुर: उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा ने कहा है कि उनकी सरकार राज्य को इलेक्ट्रॉनिक्स मैन्युफैक्चरिंग का हब बनाने का हर संभव प्रयास कर रही है। अगले पांच वर्षों में इलेक्ट्रॉनिक सेक्टर में 40 हजार करोड़ के निवेश का लक्ष्य रखा गया है और चार लाख लोगों को रोजगार दिया जाएगा ।

डॉ शर्मा ने रविवार को जंगीपुर कला गांव में आयोजित त्रयोदशाह समारोह में शामिल होने और माध्यमिक व उच्च शिक्षा अधिकारियों की बैठक को संबोधित करने के बाद यूनीवार्ता से बातचीत में कहा कि प्रदेश सरकार ने आईटी एवं इलेक्ट्राॅनिक्स सेक्टर को प्रोत्साहित करने के लिये कई कदम उठाए हैं और नवीन नीतियां घोषित की हैं। मौजूदा सरकार के गठन के पश्चात् दिसम्बर 2017 में घोषित उप्र इलेक्ट्रानिक्स मैन्यूफैक्चरिंग नीति 2017 में प्रदेश में इलेक्ट्रानिक्स सेक्टर में निवेश आकर्षित करने के लिए राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में स्थित नोएडा, ग्रेटर नोएडा तथा यमुना एक्सप्रेसवे क्षेत्र को ‘इलेक्ट्रानिक्स मैन्युफैक्चरिंग जोन’ घोषित किया गया था।

नीति के तहत 20 हजार करोड़ रूपये के निवेश के लक्ष्य को तीन साल में ही लगभग 30 निवेशको के जरिये अर्जित कर लिया गया है तथा तीन लाख से अधिक रोजगार दिलाये गए हैं। डॉ शर्मा ने बताया कि तीन इलेक्ट्रॉनिक मैन्युफैक्चरिंग क्लस्टर्स की स्थापना के तहत यमुना एक्सप्रेसवे में जेवर एयरपोर्ट के समीप, एक इलेक्ट्रॉनिक सिटी बुंदेलखंड में डिफेंस इलेक्ट्रॉनिक्स मैन्युफैक्चरिंग क्लस्टर और लखनऊ , उन्नाव व कानपुर जोन में मेडिकल इलेक्ट्रॉनिक्स मैन्युफैक्चरिंग क्लस्टर स्थापित किया जा रहा है ।

आईटी पार्को का संचालन शुरू होगा

उन्होंने बताया कि मेरठ,आगरा,वाराणसी व गोरखपुर में अगले वर्ष से आईटी पार्को का संचालन शुरू होगा तो वही लखनऊ, प्रयागराज सहित प्रदेश के अब सभी मंडलों में एक आईटी पार्क बनाया जाएगा, इनके बनने से लोगों को रोजगार मिलेगा।

ये भी पढ़ें : सीएम योगी ने दिए निर्देश, बाढ़ नियंत्रण संबंधित कार्य को अगले साले मई तक करे पूरे

प्रदेश में अभी तक तीन हजार स्टार्टअप स्थापित

उप मुख्यमंत्री ने बताया कि प्रदेश में अभी तक तीन हजार स्टार्टअप स्थापित किए जा चुके हैं । अब इन्हें बढ़ाकर 10 हजार किया जाएगा, वहीं सौ स्टार्टअप केंद्र भी स्थापित किए जाएंगे। हर जिले में एक स्टार्टअप केंद्र होगा, अभी 18 स्टार्टअप केंद्र हैं। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश डाटा सेंटर नीति के अंतर्गत 250 मेगा वाट का डाटा सेंटर उद्योग विकसित किया जाए जाएगा। इसके साथ ही तीन अत्याधुनिक निजी डाटा सेंटर पार्क स्थापित किया जाएगा।

ये भी पढ़ें : सीएम योगी ने दिए निर्देश, बाढ़ नियंत्रण संबंधित कार्य को अगले साले मई तक करे पूरे

इस अवसर पर अनेक लोग मौजूद रहे

इस अवसर पर प्रदेश के आवास एवं नियोजन राज्य मंत्री गिरीश चंद यादव, भाजपा के बदलापुर विधायक रमेश चंद्र मिश्र, जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह , पुलिस अधीक्षक राजकरन नय्यर सहित अनेक लोग मौजूद रहे।

Related Articles