केंद्रीय बजट किसान हितैषी, प्रधानमंत्री अपने संकल्पों के प्रतिसमर्पित-अमित शाह

नई दिल्ली : केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) ने सोमवार को केंद्रीय बजट 21-22  (Union Budget 21-22) को कृषि क्षेत्र (agricultural sector) के अनुकूल बताया और किसानों के कल्याण के प्रति प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) के संकल्पों की सराहना की है। उन्होंने कहा कि पीएम पहले दिन से ही किसानों के कल्याण के लिए काम कर रहे हैं।

किसानों की आय को दोगुना करने के लिए कई प्रयास किए गए हैं। इसी के तहत लागत का डेढ़ गुना न्यूनतम समर्थन मूल्य सुनिश्चित करना मोदी की प्रतिबद्धता को दर्शाता है। गृह मंत्री इस संबंध में कई ट्वीट कर आम बजट 2021 की तारीफ़ की।

इसे भी पढ़े; सरकार के बजट से शराबियों के उड़े होश, जाम लड़ाना पड़ेगा महंगा

उन्होंने कहा कि मोदी सरकार (Modi government) ने देश के किसानों को आसानी से ऋण प्रदान करने के लिए इस वर्ष के बजट में 16.5 लाख करोड़ रुपये का एक कोष निर्धारित किया है। सूक्ष्म सिंचाई निधि को भी दोगुना किया गया है, जो कृषि क्षेत्र को बढ़ावा देगा। इसके लिए पांच कृषि हब भी देश में बनाए जाएंगे।

शाह ने आगे कहा कि एमएसपी में धान की फसल की खरीद वर्ष के लिए दोगुनी हो गई है, जिससे देश के 1.5 करोड़ किसान लाभान्वित हुए हैं।

बता दें कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister Nirmala Sitharaman) ने सोमवार को केंद्रीय बजट 2021-22 (Union Budget 21-22) में कृषि उत्पादन के संरक्षण और बुनियादी ढांचे में सुधार के लिए एक कृषि अवसंरचना और विकास उपकर (एआईडीसी) की घोषणा की।

किसानों की आय दुगनी, 5 ट्रिलियन डॉलर अर्थव्यवस्था और आत्मनिर्भर भारत का मार्ग होगा प्रशस्त !

वित्त मंत्री (Finance Minister) ने ग्रामीण अवसंरचना विकास निधि को 30,000 करोड़ रुपये से बढ़ाकर 40,000 करोड़ रुपये करने की भी घोषणा की। उन्होंने आगे माइक्रो इरीगेशन फंड को दोगुना करने का प्रस्ताव रखा। जिसकी शुरुआत 5,000 करोड़ रुपये (नेशनल बैंक फॉर एग्रीकल्चर एंड रूरल डेवलपमेंट) नाबार्ड के तहत हुई थी।

कृषि और संबद्ध उत्पादों और उनके निर्यात में मूल्यवर्धन को बढ़ावा देने के लिए, सीतारमण ने ‘ऑपरेशन ग्रीन स्कीम’ का दायरा बढ़ाने का भी प्रस्ताव रखा, जो वर्तमान में टमाटर, प्याज और आलू (TOPS) पर लागू होता है, जिसमें नाशपाती भी शामिल हैं।

अमित शाह (Amit Shah) ने कहा कि कोरोना महामारी में इस साल का बजट बनाना काफी चुनौतीपूर्ण था, लेकिन पीएम मोदी के मार्गदर्शन में निर्मला सीतारमण ने एक सर्वस्पर्शी बजट पेश किया है। इस बजट के माध्यम से किसानों की आय दुगनी, 5 ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था और आत्मनिर्भर भारत का मार्ग प्रशस्त होगा।

Related Articles

Back to top button