केन्द्रीय मंत्री का दौरा, कोविड टीका लगवा चुके परिवार वालों के घर बाहर लगेगा स्टीकर

लखनऊ: केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री मनसुख मंडवीय ने लखनऊ दौरे में कोविड टीकाकरण की गतिविधियों और उपलब्धियों का बारीकी से निरीक्षण किया। केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि अब जो परिवार कोविड टीका से पूर्ण प्रतिरक्षित हो गए हैं उनके घर के बाहर एक स्टीकर लगाया जाएगा। स्टीकर पर लिखा जाएगा कि यह परिवार कोविड टीका से पूर्ण प्रतिरक्षित है। केन्द्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री शुक्रवार को एक दिवसीय दौरे पर लखनऊ पहुंचे थे।

केन्द्रीय मंत्री मनसुख मंडवीय ने कहा कि प्रदेश में कोविड टीकाकरण का कार्य सुचारु रूप से चल रहा है। लक्ष्य को समय से प्राप्त करने के लिए भारत सरकार की ओर से घर-घर दस्तक अभियान चलाया जा रहा है। इसी अभियान को प्रोत्साहित करने के लिए केन्द्रीय मंत्री स्वयं सरोजनीनगर ब्लाक के नटकुर गांव पहुंचे।

अभियान में हिस्सा लेते हुए मंत्री ने नटकुर गांव की 24 वर्षीय सविता के घर दस्तक दी और कोविड टीका लगवाने की अपील की। इसके बाद सविता ने टीका लगवाने की सहमति जताई। केन्द्रीय मंत्री ने आमजन से अपील भी की है कि लोग इस अभियान का हिस्सा बनें और लोगों को कोविड टीका से शतप्रतिशत प्रतिरक्षित होने के लिए प्रोत्साहित करें।

मंत्री ने बूथ पर जाकर टीका की दोनों डोज और पहली डोज से प्रतिरक्षित लोगों का आंकड़ा लिया। केन्द्रीय मंत्री के दौरे के दौरान कोरोना टीकाकरण को प्रोत्साहित करने के लिए सेंटर फॉर एडवोकेसी एंड रिसर्च (सीफार) संस्था के सहयोग से एक नुक्कड़ नाटक भी हुआ।

स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह, मंत्री स्वाति सिंह, अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद, एमडी एनएचएम अपर्णा उपाध्याय और टीकाकरण महाप्रबंधक डॉ मनोज शुकुल मौजूद रहे।

अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि कोविड संक्रमण अभी पूरी तरह खत्म नहीं हुआ है। इसलिए टीका लगवाने के बाद भी कोविड प्रोटोकाल का लगातार अपनाते रहें। उन्होंने बताया कि हालांकि प्रदेश के अधिकांश जिलों में फिलहाल कोविड का कोई भी मरीज नहीं है।

राज्य टीकाकरण अधिकारी डॉ अजय घई ने बताया कि प्रदेश में कोविड टीकाकरण का कार्य प्रगति पर है और करीब 14 करोड़ डोज दी जा चुकी है। इसमें 10 करोड़ से अधिक लोगों को कोविड वैक्सीन की पहली डोज दी और साढ़े तीन करोड़ से अधिक लोगों को दूसरी डोज लगाई जा चुकी है। प्रदेश में कोविड हेल्पलाइन 18001805145 पूर्ण रूप काम रही है। कोविड संबंधी समस्या आने पर किसी भी समय इस टोलफ्री नंबर से मदद ली जा सकती है।

लखनऊ के सीएमओ डॉ मनोज अग्रवाल ने बताया लखनऊ जिले में करीब साढ़े 47 लाख डोज लगाई जा चुकी हैं। इसमें 31 लाख 58 हजार से अधिक लोगों को कोविड वैक्सीन की पहली डोज और करीब 15 लाख 91 हजार लोगों को दूसरी डोज लगाई गई है। उन्होंने बताया जिले में कोविड टीका से छूटे हुए लोगों का अब दस्तक अभियान के तहत भी प्रतिरक्षित किया जा रहा है।

टीका लगवाने आए 105 वर्षीय लाभार्थी

नटकुर निवासी 105 वर्षीय मंगल कोरोना का पहला टीका लगवाने आए। मंगल ने बताया कि 6 माह से मेरा घर बन रहा था इसलिए टीका नहीं लगवा पा रहा था। कल एएनएम घर आईं और आज के टीकाकरण कार्यक्रम के बारे में बताया। हमारे बेटे और पोते ने भी टीका लगवाने पर जोर दिया तो आज हमने पहला टीका लगवा लिया है। वहीं 25 वर्षीय स्वाति कश्यप छह माह की गर्भवती हैं और उन्होंने अपना पहला टीका लगवाया। स्वाति ने बताया कि वह टीका लगवाने को लेकर बहुत डरी हुई थी। आशा दीदी ने बताया कि गर्भवती भी टीका लगवा सकती है और यह टीका गर्भवतियों के लिए पूरी तरह सुरक्षित है। इसलिए अभी मैं निश्चित हूं।

नटकुर में 95 % टीकाकरण

सरोजनीनगर सीएचसी के चिकित्सा प्रभारी डॉ अंशुमान श्रीवास्तव ने कहा कि नटकुर में कोरोना टीककरण को लेकर लोग जागरूक हैं और यहां 95 प्रतिशत टीकाकरण हो चुका है। शेष 5 प्रतिशत लोगों में दुविधा व आशंकाएं हैं वह हम दस्तक अभियान के तहत दूर करने का प्रयास कर रहे हैं। डॉ अंशुमान ने बताया कि टीकाकरण का ग्राफ बढ़ाने में ग्राम प्रधान सावित्री देवी ने भी काफी सहयोग किया। अब तक गांव में कोरोना टीकाकरण के सात शिविर लगाए जा चुके हैं।

Related Articles